Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > बाराबंकी > बाराबंकी : आर्यवर्त बैंक की दीवाल काट कर चोरी का प्रयास, जब शाखा खुली तो कर्मचारियो के होश उड़ गए!

बाराबंकी : आर्यवर्त बैंक की दीवाल काट कर चोरी का प्रयास, जब शाखा खुली तो कर्मचारियो के होश उड़ गए!

चोरों के पास पर्याप्त औजार न होने से वह अपने मंसूबो में कामयाब नही हो सके इस तरह लाखों का कैश जाते जाते बच गया...

 Special Coverage News |  30 Sep 2019 1:49 PM GMT  |  दिल्ली

बाराबंकी : आर्यवर्त बैंक की दीवाल काट कर चोरी का प्रयास, जब शाखा खुली तो कर्मचारियो के होश उड़ गए!
x

बाराबंकी : आर्यवर्त ग्रामीण बैंक सदरुद्दीनपुर शाखा की दीवाल काटने में असफल चोरो ने विंडो की सरिया काट कर अंदर घुसे चोरो ने कैस अलमारी दराज तोड़ने की कोसिस की लेकिन हर जगह नाकामयाबी मिलने से बड़ी वारदात होते बच गयी । ये घटना 27 सितंबर की रात की है। सोमवार को शाखा खुली तो कर्मचारियो के होश उड़ गए। मौके पर पहुच कर रीजनल मैनेजर और स्वाट टीम प्रभारी ने जांच पड़ताल की है। 28, 29 शाखा बन्द रहने से सोमवार को इस वारदात की जानकारी हो पायी।

थाना जहँगीरबाद इलाके सदरुद्दीनपुर कस्बा के मध्य स्थित बैंक शाखा में 27 सितम्बर की रात को चोरो ने बैंक की दीवाल काट कर अंदर घुसने की कोसिस की लेकिन दोहरी दीवाल ने उन्हें कामयाब नही होने दिया। हौसलों से लैस चोरो शाखा के बगल बने स्कूल की छत पर चढ़ कर एक विंडो की सरिया काट कर बैंक में प्रवेश कर लिया । अंदर जाकर चोरो ने कैश अलमारी को तोड़ने की भरपूर कोसिस की जिसकी दराज को उखाड़ लिया । बताते है कि चोरो के पास पर्याप्त औजार न होने से वह अपने मंसूबो में कामयाब नही हो सके इस तरह लाखों का कैश जाते जाते बच गया ।

घटना से पहले खराब हो गए कैमरे

शाखा में लगे कई सीसी कैमरे घटना से पहले खराब हो गए रीजनल मैनेजर (आरएम) का कहना है कि डीबीआर में खराबी की वजह से रिकार्डिंग नही हो पाई जब इससे इतर शाखा प्रबंधक अम्बर प्रसाद कहते है कि चोरो ने तार काट दिया था। सवाल उठता है कि अगर तार चोरो ने काटा तो अंतिम समय तक रिकार्डिग हुई होगी। अगर डीबीआर में घटना के दिन ही अचानक खराबी क्यों आयी मामला ये भी जांच के दायरे का है।

लेकिन रिकार्ड हो गए चोर

चोरो ने जिस स्कूल की छत के सहारे बैंक विंडो की ग्रिल काटी वहां 3 सीसी कैमरे लगे है जो चालू है । आरएम केके सिंह के मुताबिक चोर वहां रिकार्ड हो गए है । घटना के बाद जंहागीराबाद पुलिस के अलावा स्वाट टीम प्रभारी व बैंक के रीजनल मैनेजर केके सिंह पहुच कर हालात का जायजा लिया । ग्रामीणों ने बताया कि शाखा की सुरक्षा राम भरोशे है। बैंक के पास यदा कदा पुलिस ही आती है। यही वजह है चोरो ने बेखौफ होकर बड़ी घटना को अंजाम देने की हिम्मत जुटायी है।

चोरो के निशाने पर है बैंक

जनपद की बैंक शाखाओ को पुलिस कितना ख्याल रखती है इसका अंदाजा 1 एक माह में तीसरी घटना बयान कर रही है। बकौल आरएम सुबेहा शाखा में 1 माह पूर्व और रामनगर की सुरवारी शाखा में चार दिन पूर्व दीवाल काट कर चोरी की कोसिस हुई । यहां चोर कैमरे में कैद भी हुए लेकिन पुलिस को वह चोर नही मिल पाए। सुरवारी शाखा में 1 साल पूर्व भी चोरी की असफल कोसिस हो चुकी है।

जनपद में है 94 शाखाएं

अकेले आर्यवर्त ग्रामीण बैंक की 94 शाखाये गांवो में है। इन सभी सखाओ पर रात्री सुरक्षा की कोई व्यवस्था बैंक की तरफ से नही है। इस बाबत रीजनल मैनेजर कहते है कि हमारी तरफ से कही सुरक्षा की व्यवस्था नही की गयी है। हिफाजत की जिम्मेदारी पुलिस प्रसाशन की है । उन्हें गस्त में बैंको को प्राथमिकता देना चाहिए । बताया कि घटना की तहरीर सदरुद्दीनपुर के मैनेजर की तरफ से थाने में दी गयी है। थानाध्यक्ष मनोज कुमार का कहना है कि मामला संज्ञान में है । अभी मुकदमा दर्ज नही हो पाया है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it