Top
Begin typing your search...

बाराबंकी पुलिस की बड़ी कामयाबी: 15-15 हजार के तीन अभियुक्तों सहित 4 कुख्यात लुटेरे हजारों नकद और लूट के सामान समेत गिरफ्तार

बाराबंकी पुलिस की बड़ी कामयाबी: 15-15 हजार के तीन अभियुक्तों सहित 4 कुख्यात लुटेरे हजारों नकद और लूट के सामान समेत गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बाराबंकी: पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर के द्वारा चोरों, लुटेरों, इनामिया अपराधियों के विरुद्ध चलाये जा रहे महाअभियान के तहत थानाध्य़क्ष मोहम्मदपुरखाला व स्वाट टीम बाराबंकी चौकी छेदा से पहले छेदा जंगल के पास जैसे ही पुहंचे दो मोटरसाइकिल सवार 4 कुख्यात चोरों ने पुलिस टीम को जान से मारने की नियत से फायर किया.

पुलिस टीम ने आत्मरक्षार्थ खुद को बचाते हुए अभियुक्तगण पवन पुत्र सुन्दरलाल निवासी ग्राम मधवापुर थाना रेउसा जनपद सीतापुर, कमलाकान्त उर्फ कलऊ पुत्र वेदप्रकाश निवासी शिवपुर देवरिया थाना सदरपुर जनपद सीतापुर, मोतीलाल उर्फ राज पुत्र लक्ष्मी नरायन निवासी ग्राम मधवापुर थाना रेउसा जनपद सीतापुर, शेरु उर्फ अवधेश रस्तोगी पुत्र ओमप्रकाश रस्तोगी निवासी मो0 बेहटी थाना लहरपुर जनपद सीतापुर को 27.जुलाई .2019 को गिरफ्तार किया.

अभियुक्तगण के कब्जे से 3 तमंचा 315 बोर, 3 जिन्दा व खोखा कारतूस 315 बोर, एवं काफी मात्रा में चोरी के सोने और चांदी के जेवरात, 60 हजार नकदी, 35 लीटर मेंथा ऑयल व 2 मोटर साइकिल बरामद की.

अभियुक्तगण के विरूद्ध थाना मोहम्मदपुरखाला में केस पंजीकृत कर जेल भेजा गया. एसपी बाराबंकी के द्वारा अभियुक्त पवन, कमलाकान्त व मोतीलाल की गिरफ्तारी हेतु 15-15 हजार रुपये का पुरस्कार घोषित किया गया था. ये पुरस्कार गिरफतार करने वाली टीम को मिलेगा.

गिरफ्तार अभियुक्तों से जब पूंछतांछ की गई तो बताया कि पूछताछ में अभियुक्त पवन ने बताय कि कमलाकान्त, लोमस पुत्र रामकिशुन, जुबैर पुत्र अब्बास, मोतीलाल व अन्य साथियों के साथ मिलकर हम लोग चोरी करते हैं तथा चोरी में जो भी जेवर नकदी आदि मिलता है उसे आपस में बराबर-बराबर बाट लेते हैं। दस जून की रात में हम लोगों ने गगौरा गाँव में छत के रास्ते से घर के अंदर जाकर कर जेवर कपड़ा व मेंथा आयल चोरी किया था. उसके बगल वाले गाँव में चोरी करने के लिए घर की कुंडी तोड़ रहे थे कि बाहर सोया हुआ व्यक्ति खटपट की आवाज होने पर चारपाई से उठकर मुझे पकड़ लिया था, मुझे छुडाने के लिए जुबेर ने उस व्यक्ति को गोली मार दी थी.

उन्होंने बताया भगदड़ में चोरी किया हुआ कुछ माल जो एक झोले में था, वहीं मौके पर छूट गया था. इसके अलावा हम लोगों ने करीब तीन महीना पहले तुरकौली व रंजीतपुर गाँव में चोरी की थी तथा थाना क्षेत्र फतेहपुर के एक गाँव में अगल बगल के दो घरों में मिलकर चोरी की तथा वापस जाते समय देशी बम फोड़कर चले गये थे. सुबेहा थाना क्षेत्र में हम लोगों ने एक व्यक्ति से दिन में पचास हजार रूपये छीना था. चोरी के जेवरात को हम लोग शेरू उर्फ अवधेश रस्तोगी के हाथ बेच देते हैं. शेरू उर्फ अवधेश सर्राफा व्यापारी है, थाना रेउसा जनपद सीतापुर में चोरी के माल खरीदने के सम्बन्ध में वह पहले भी कई बार जेल जा चुका है तथा चोरी का माल सस्ते दामों में खरीदता है. जब कभी हम लोगों को पैसे की जरुरत होती है, तो शेरू उर्फ अवधेश उधार पैसे दे देता है.

Special Coverage News
Next Story
Share it