Top
Begin typing your search...

सुनिए वो दर्दनाक चीख: दिल्ली हादसे में मृत हुए युवक की अंतिम काल, किस तरह तडफ तडफ कर निकली जान

सुनिए वो दर्दनाक चीख: दिल्ली हादसे में मृत हुए युवक की अंतिम काल, किस तरह तडफ तडफ कर निकली जान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

दिल्ली हादसे में आज एक एसी दर्दनाक बात सामने आई है. जिसको सुनकर आंसू रुकने का नाम ले रहे है. जिस तरह युवक ने मरते दम तक भी बड़ी ही ताकत से अपने दोस्त से कहा कि मोनू भैया मेरे बच्चों का ख्याल रखना.और सबसे बड़ी दर्दनाक बात यह कही कि भैया पहले बड़े बूढों को बताना फिर वो सब कुछ संभाल लेंगें .

कहा कि भैया बच्चों को बड़े होने तक संभालना. मोनू तुम पर मुझे बहुत भरोसा है.फिर उसने कहा कि भैया अब जान निकल रही है अब सांस नहीं ले पा रहा हूँ. या अल्लाह बच्चों को संभलाना में चला सुबह करोल बाग़ आकर लाश ले जाना.

करोल बाग में शॉर्ट सर्किट के कारण आग लगने से 43 लोगों की मौत हो गई. वही बिजनौर के एक युवक की भी दर्दनाक मौत हुई है. मरने से पहले मुशर्रफ पुत्र अब्दुल वाहिद ने अपने दोस्त अपने दोस्त मोनू से फोन पर बात की.

बिजनौर के टांडा माई दास का युवक रहने वाला था. परिजनों में जवान बेटे की मौत से शोक का माहौल बना हुआ है. युवक बिजनौर के थाना नगीना देहात का रहने वाला है.



Special Coverage News
Next Story
Share it