Top
Begin typing your search...

बुलन्दशहर के डॉक्टर देवेंद्र कुमार की कोरोना से दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में हुई मौत

स्वाथ्य विभाग में मचा हड़कंप स्वास्थ विभाग की टीम ने डॉक्टर के परिजनों का भी लिया सैंपल

बुलन्दशहर के डॉक्टर  देवेंद्र कुमार की कोरोना से दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में हुई मौत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

यूपी के बुलंदशहर जिले में कोरोना से डॉक्टर की मौत होने से हड़कंप मच गया. जिले के आला अधिकारियों को जैसे ही यह सूचना मिली तो दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल से जानकारी लेने में जुट गए. यूपी में कोरोना थे डॉक्टर की यह पहली मौत है जबकि भारत देश में कोरोना से दूसरे डॉक्टर की मौत है.

मिली जानकारी के मुताबिक डॉक्टर देवेंद्र कुमार पुत्र श्री विक्रम सिंह की आयु 58 वर्ष और बुलंदशहर के शिकारपुर के निवासी थे. जिनकी कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई. सफदरजंग अस्पताल से मिली मौखिक सूचना के अनुसार यह दिनांक 10 अप्रैल को कोरोना की पॉजिटिव पाये गए थे. इनके साथ उनकी पत्नी अर्चना वर्मा पुत्र रोहित वर्मा भी थे. जिनको अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार सैंपल लेकर अस्पताल भेजा गया है.

बता दें कि डॉक्टर देवेंद्र कुमार आयुर्वेदिक डॉक्टर थे. इनकी तबीयत बीती 7 अप्रैल को ज्यादा खराब हुई थी. जब इन्हें बुलंदशहर के काल आम चौराहे के पास स्थित संस्कार हॉस्पिटल में कुछ घंटे के लिए वेंटिलेटर पर रखा गया. उसके बाद 8 अप्रैल को है सफदरजंग हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया 10 अप्रैल की शाम को इनकी मौत हो गई.

दिवंगत डॉ देवेंद्र कुमार और उनकी पत्नी अर्चना वर्मा तहसील शिकारपुर में अपना क्लीनिक विक्रम औषधालय के नाम से मोहल्ला मंडी पेंठ बाजार टंकी के पास चलाते थे. जिसको सील करने की कार्यवाही एवं वहां जितने डॉक्टर या नर्स थे उनको क्वॉरेंटाइन फैसिलिटी में लेकर सैंपल लेने की कार्यवाही एवं उनके परिवार वालों को होम कोरनटाइम करने की कार्यवाही चल रही है. साथ ही साथ हॉस्पिटल में पिछले 14 दिन में जितने पेशेंट दिखाने के लिए आए हैं. उनको क्वॉरेंटाइन फैसिलिटी में लाकर सैंपल लेने की कार्यवाही की जा रही है और उनके परिवार वालों को भी हम क्वॉरेंटाइन की कार्रवाई की जा रही है.

उनके अस्पताल में 14 से 28 दिन के बीच जितने भी लोग आए थे. उन सबको हमको रनटाइम करने की कार्रवाई की जा रही है. 7 अप्रैल को उनका इलाज जिस संस्कार हॉस्पिटल में हुआ था उसको भी सील किया जा रहा है और संबंधित डॉक्टर एवं उनका परिवार तथा उक्त डॉक्टर द्वारा देखे गए सभी मरीजों के संबंध में भी उक्त आवश्यक कार्रवाई की जा रही है. डॉक्टर के घर एवं हॉस्पिटल के एरिया को हॉटस्पॉट घोषित करके उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा दिए गए निर्देशानुसार आवश्यक कार्रवाई की जा रही है. दिवंगत में डॉक्टर उनकी फैमिली एवं संबंधित के संपर्क में आए व्यक्तियों के संबंध में कांट्रैक्ट रेसिंग की कार्रवाई बड़े स्तर पर की जा रही है यह जानकारी जिला सूचना कार्यालय द्वारा दी गई.

बता दें कि भारत में डॉ की दूसरी मौत है. इससे पहले मध्यप्रदेश के इंदौर में एक डॉ की मौत होक चुकी है. देशभर में कोरोना के मामले बढ़कर 7529 हुए. अब तक 242 लोगों की मौत. पिछले 24 घंटे में 768 नए मामले सामने आए और साथ ही 36 लोगों की मौत भी हो चुकी है.


Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it