Top
Begin typing your search...

सुबोध कुमार सिंह हत्याकांड में बड़ा खुलासा, FIR में हत्या के आरोपी बजरंग दल, BJP युवा मोर्चा और VHP के कार्यकर्ता, देखिये FIR

इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के पिता भी पुलिस में नौकरी के दौरान शहीद हुए थे.

सुबोध कुमार सिंह हत्याकांड में बड़ा खुलासा, FIR में हत्या के आरोपी बजरंग दल, BJP युवा मोर्चा और VHP के कार्यकर्ता, देखिये FIR
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बुलंदशहर जिले के स्याना में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह हत्याकांड में बड़ा खुलासा हुआ है. FIR में हत्या के आरोपी बजरंग दल जिला सयोजंक, BJP युवा मोर्चा और VHP के कार्यकर्ता है. इस घटना के मुख्य आरोपी योगेश राज और सतेंद्र राजपूत है. जिसमें योगेश राजपूत बजरंग दल का जिला संयोजक है. ये सभी आरोपी स्याना इलाके के रहने वाले हैं.


शहीद #SubodhKumarSingh के बेटे अभिषेक ने कहा कि मेरे पिता मुझे एक अच्छा नागरिक बनाना चाहते थे. जो समाज में धर्म के नाम पर हिंसा ना फैलाए. आज इस हिंदू-मुस्लिम झगड़े की वजह से मेरे पिता की जान चली गई, कल किसके पिता की जान जाएगी?




दूसरा आरोपी है BJP युवा मोर्चा का नगर अध्यक्ष शिखर अग्रवाल और तीसरा आरोपी VHP का कार्यकर्ता उपेंद्र राघव है. 28 लोगों के खिलाफ नामजद FIR दर्ज की गई जबकि 60 अज्ञात लोगों पर भी केस दर्ज किया गया है. पुलिस ने अब तक दो आरोपियों चमन और देवेंद्र की गिरफ्तार कर लिया है. जबकि चार अन्य को हिरासत में लेकर पूछताछ जारी. जिला प्रसाशन उक्त आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए जगह जगह दबिश दे रहा है.




सुबोध कुमार सिंह राठौर मूल रूप से एटा के रहने वाले थे उनके पिता राम प्रकाश जी यूपी पुलिस में दरोगा थे. उनके पिता पुलिस मुठभेड़ के दौरान गोली लगने से शहीद हुए थे. मृतक आश्रित में सुबोध को पुलिस विभाग में दरोगा के पद पर नौकरी मिली थी. वह वर्ष 2017 में इंस्पेक्टर के पद पर प्रमोट हुए अपनी मां के बेहद करीब थे.


बुलंदशहर की घटना को साजिश के तौर पर भी देखा जा रहा है. यह सच वायरल हुए वीडियो में हो रही बात से घर आया है. वीडियो में ऐसे जो का आधा शरीर जमीन पर और पैर की तरफ से पुलिस की सरकारी सुमो गाड़ी में दिख रहा है दरवाजा खुला हुआ था. वीडियो में एक युवक एसएचओ को देखने के बाद कह रहा है कि यह वही है सो है यह वही है सो है उसकी बात से साजिश का शक जताया जा रहा है.


एटा जिले के तरगवां गांव में शहीद हुए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार का अंतिम संस्कार होगा. शहीद कोतवाल का परिवार ग्रेटर नोएडा की गौर सिटी में रहता है. परिजन अपने पैत्रिक गाँव रवाना हो गये है. पुलिस विभाग ने एक जांबाज इंस्पेक्टर खो दिया है. ग्रेटर नोएडा में बिसहड़ा कांड के दौरान भीड़ में घुसकर शहीद कोतवाल ने एक अधिकारी की जान बचाई थी.


जिला प्रशासन ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए धरपकड तेज कर दी है. 2 नामजद आरोपी गिरफ्तार हो चुके है जिसकी जिला प्रशासन ने की पुष्टि की है. शाम तक कई गिरफ्तारी होना संभव दिख रहा है. 17 गंभीर धाराओं में 27 नामजद और 50 से 60 अज्ञातों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. एहतियात के तौर पर आसपास के जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है. एसआईटी के एडीजी ने बुलन्दशहर पहुँचकर जांच शुरू कर दी है. ज़िला प्रशासन ने की अफवाहों पर ध्यान नही देने की अपील करते हुए स्थिति को नियंत्रित कर लिया है.

Special Coverage News
Next Story
Share it