Top
Begin typing your search...

शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार का गायब सीयूजी नंबर बरामद, लेकिन पिस्टल 53 दिन में ढूढ न पाई बुलंदशहर पुलिस

शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार का गायब सीयूजी नंबर बरामद, लेकिन पिस्टल 53 दिन में ढूढ न पाई बुलंदशहर पुलिस
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बुलन्दशहर स्याना हिंसा मामले मे अब अचानक एक नया मोड़ आया है. इन्स्पेक्टर सुबोध की हत्या के बाद सरकारी CUG NO भी ग़ायब हो गया था. जिसका आज तक कोई पता नहीं चला था. यह फ़ोन आरोपी प्रशांत नट के घर से बरामद हुआ है. यह फोन लावा कंपनी का था जो अब बरामद किया जा चुका है.

इस हिंसा में अब तक न जाने कितने बार नये नए तथ्य आते जा रहे है. अगर इंस्पेक्टर का सीयूजी नंबर गायब था तो इसकी जानकारी क्या पुलिस विभाग को नहीं मिली होगी. बिलकुल मिली होगी. क्योंकि सीयूजी नंबर थाने का हर समय सरकार द्वारा चालू रखा जाता है. और खासकर जब इस तरह की घटना हो जाय तब उस नंबर पर लगातार किस तरह बात बात होती रही.

इस मामले में जानकारी देते हुए एसपी सिटी ने बताया कि कोर्ट से सर्च वारंट लेने के बाद हमने गिरफ्तार आरोपी प्रशांत नट के घर की तलाशी ली गई. जिसमें इंस्पेक्टर सुबोध कुमार का सीयूजी नंबर वाला फोन मिल गया है. घटना के 53 दिन बीतने के बाद पुलिस अब तक इंस्पेक्टर की गायब पिस्टल बरामद नहीं कर पाई है. इस घटना में संलिप्त आरोपी गिरफ्तार किये जा चुके और जो भी इस घटना में शामिल है उन्हें जल्द से जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

बता दें इस घटना को हुए लगभग दो माह बीतने के बाद भी पुलिस ने अब इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की सरकारी पिस्टल बरामद नहीं कर पाई है. जबकि उनका सीयूजी फोन बरामद करके अपनी पीठ थपथपा रही है. इस मामले को लेकर पुलिस लगातार इस मामले में नये मोड़ आने से संदेह की द्रष्टि में आती प्रतीत हो रही है. हालांकि इस मामले में बुलंदशहर के तत्कालीन एसएसपी को हटाया जा चुका है. और नए एसएसपी कमांडो प्रभाकर चौधरी लगातार इस मामले को लेकर सख्त बने हुए है.

Special Coverage News
Next Story
Share it