Top
Begin typing your search...

बुलंदशहर में मंदिर परिसर में सो रहे साधुओं की धारदार हथियार से निर्मम हत्या, ग्रामीणों ने आरोपी को पकड़ा

घटना के बाद से इलाके के लोगों में रोष फैल गया है

बुलंदशहर में मंदिर परिसर में सो रहे साधुओं की धारदार हथियार से निर्मम हत्या, ग्रामीणों ने आरोपी को पकड़ा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बुलंदशहर : महाराष्ट्र के पालघर में बीते हफ्ते दो साधुओं की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। इस मामले ने पूरे देश में हलचल मचा दी थी। पालघर का मामला शांत नहीं हुआ कि अब उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में दो साधुओं की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई है। घटना के बाद से इलाके के लोगों में रोष फैल गया है। इधर मामला बढ़ने से रोकने के लिए इलाके में भारी पुलिस फोर्स तैनात किया गया है। भीड़ ने आरोपी को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया है।

घटना अनूपशहर कोतवाली के गांव पगोना का है। स्थित शिव मंदिर में पिछले करीब 10 वर्षों से साधु जगदीश (55 वर्ष) और शेर सिंह (35 वर्ष) रहते थे। सोमवार देर रात दोनों साधुओं की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई। मंगलवार की सुबह मंदिर पहुंचे लोगों ने साधुओं के शव देखकर पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों का पंचनामा करके पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। इधर सूचना फैलते ही मौके पर दर्जनों लोग जमा हो गए। लोगों ने साधुओं के हत्या का विरोध किया। लोगों का गुस्सा देखकर मौके पर पुलिस फोर्स तैनात की गई।

जानकारी के अनुसार, अनूपशहर कोतवाली के पगोना गांव में एक शिव मंदिर है. मंदिर में रहने वाले 55 वर्षीय साधु जगनदास और 35 वर्षीय साधु सेवादास की सोमवार रात हत्या कर दी गई है. मंगलवार सुबह जब ग्रामीण मंदिर पहुंचे तो साधुओं के लथपथ शव देखकर भड़क गए। देखते ही देखते मंदिर में सैकड़ों लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। दोनों साधु शिव मंदिर की देख रेख और पुरोहित का काम करते थे।


Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it