Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > चन्दौली > पीडीडीयू नगर रेलवे जंक्शन पर जीआरपी को मिली बड़ी कामयाबी : 44 मोबाइल सेट और असलहों की खेप संग दो शातिर बदमाश गिरफ्तार

पीडीडीयू नगर रेलवे जंक्शन पर जीआरपी को मिली बड़ी कामयाबी : 44 मोबाइल सेट और असलहों की खेप संग दो शातिर बदमाश गिरफ्तार

 Special Coverage News |  6 March 2019 8:10 AM GMT  |  चंदौली

पीडीडीयू नगर रेलवे जंक्शन पर जीआरपी को मिली बड़ी कामयाबी : 44 मोबाइल सेट और असलहों की खेप संग दो शातिर बदमाश गिरफ्तार

ओ पी श्रीवास्तव चंदौली

लोकसभा चुनाव 2019 के पूर्व ही आपराधिक गतिविधियों में तीव्रता आ गई है। आपराधिक गतिविधियों में संलिप्तता के इसी कड़ी में पीडीडीयू नगर रेलवे जंक्शन से जीआरपी टीम ने अलग अलग स्थानों से असलहों की खेप और चोरी की 44 मोबाइल सेट के साथ दो अपराधियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। जीआरपी टीम के अनुसार चार पिस्टल व आठ मैगजीन बिहार के मुंगेर से आजमगढ़ ले जाई जा रही थी। वहीं चोरी के महंगे मोबाइल सेट आजमगढ़ से पश्चिम बंगाल ले जाई जा रही थी।

जीआरपी टीम के अनुसार सोमवार को आधी रात के पश्चात जीआरपी टीम की रूटीन चेकिंग अभियान में प्लेटफार्म नंबर दो के पश्चिमी छोर पर काले रंग के बैग के साथ एक संदिग्ध युवक दिखा। जीआरपी पुलिस को देखते ही वह भागने की फिराक में लग गया। जीआरपी ने संदिग्ध दिख रहे युवक के बैग की तलाशी ली तो उसमें विभिन्न कम्पनियों के 44 मोबाइल सेट बरामद हुए। पूछताछ में युवक ने अपना नाम मुहम्मद अनवर निवासी कालिया चक मालदा पश्चिम बंगाल बताया। जीआरपी के अनुसार युवक चोरी की मोबाइल की खेप आजमगढ़ से मालदा ले जा रहा था।

इसी कड़ी में मंगलवार की सुबह आठ बजे प्लेटफार्म संख्या दो के पूर्वी छोर पर बैग लिए युवक को संदिग्ध प्रतीत होने पर उसके बैग की तलाशी लेने पर उसमें से तीन 32 बोर और एक नाइन एमएम सहित चार पिस्टल और आठ मैगजीन बरामद हुए। पूछताछ में युवक ने अपना नाम राजन सिंह निवासी बरदह आजमगढ़ बताया। बताया कि बिहार के मुंगेर,सुल्तान गंज सहित आसपास के इलाकों से असलहों की खेप लेकर आजमगढ़ सप्लाई के लिए ले जा रहा था।

जीआरपी टीम प्रभारी आरके सिंह ने बताया कि पिस्टल का इस्तेमाल लोकसभा चुनाव में किए जाने की योजना थी। वहीं मोबाइल को भी पश्चिम बंगाल के सीमावर्ती इलाकों में गलत काम के लिए इस्तेमाल किया जाता।

Tags:    
Share it
Top