Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > चन्दौली > घायलों को कलेक्ट्रेट परिसर में जमीन पर लेटाकर किया हंगामा,आरोपितों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग

घायलों को कलेक्ट्रेट परिसर में जमीन पर लेटाकर किया हंगामा,आरोपितों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग

 Special Coverage News |  9 March 2019 5:02 AM GMT  |  चंदौली

घायलों को कलेक्ट्रेट परिसर में जमीन पर लेटाकर किया हंगामा,आरोपितों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग

ओ पी श्रीवास्तव चंदौली

ट्रामा सेंटर वाराणसी में उचित इलाज से महरूम परिजनों ने नाराज होकर घायलों को साथ लेकर शुक्रवार को कलेक्ट्रेट परिसर में घायलों को जमीन पर लेटाकर प्रशासन के विरुद्ध जमकर हंगामा किया। इससे अधिकारियों में खलबली मच गई। करीब तीन घण्टे बाद मौके पर पहुंचे जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने परिजनों को समझा-बुझाकर मामला शांत कराया और घायलों को एम्बुलेंस के माध्यम से जिला अस्पताल में उचित इलाज हेतु भर्ती करवाया। डीएम ने एसपी संतोष सिंह को मारपीट के आरोपितों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया ।

जनपद के बलुआ थाना क्षेत्र के डेरवाँ गांव में गुरुवार को जमीनी विवाद में दो पक्षों के बीच जमकर हुई मारपीट में पांच महिलाओं समेत दस लोग घायल हो गए थे। उन्हे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालत गम्भीर होने पर चिकित्सकों ने श्यामबिहारी(40),रमाकांत(55),सुदामा (60) व हीरावती देवी(45) की हालत चिंताजनक होने पर ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया।

परिजनों का आरोप है कि ट्रामा सेंटर की हालत बद से बदतर थी। ट्रामा सेंटर में बेड तक नसीब नहीं हुआ। घायलों को जमीन पर लेटाकर ही मरहम पट्टी की गई।वहीं शुक्रवार की रात करीब दो बजे उन्हें घायलों के साथ बाहर कर दिया गया। इससे नाराज परिजनों ने घायलों को लेकर सुबह 11 बजे कलेक्ट्रेट पहुंचकर, परिसर की जमीन पर घायलों को लेटाकर हंगामा शुरू किया। सूचना पर एसडीएम सकलडीहा,सीएमओ डॉ आरके मिश्रा, सीओ चकिया मौके पर पहुंच गए। एम्बुलेंस बुला घायलों को अस्पताल भेजने की कोशिश की लेकिन, नाराज परिजन आरोपियों के विरुद्ध उचित कार्रवाई और पूरा इलाज कराने की जिद पर अड़े रहे। करीब तीन घण्टे के बाद वीडियो कांफ्रेंसिंग से लौटे जिलाधिकारी नवनीत सिंह की जानकारी में जब मामला आया तब मौके पर पहुंचकर परिजनों को उचित कार्रवाई का आश्वासन देकर समझा- बुझाकर शांत कराया और घायलों को उचित इलाज हेतु जिला अस्पताल भेजवाया।

क्या रहा पूरा मामला

जनपद के बलुआ थानाक्षेत्र अंतर्गत डेरवाँ गांव निवासी सुदामा गुरुवार को अपने खेत पर गए थे। वहां दूसरे पक्ष के लोग निर्माण करा रहे थे। दोनों पक्षों के बीच कहासुनी होने पर सुदामा के परिवार के दस लोग मौके पर पहुंच गए। कहासुनी के बाद दोनों पक्षों में जमकर लाठी डंडे चले। इसमें सीमा, सुनीता,लालमनि,सावित्री,सपना समेत दस लोग घायल हो गए। पुलिस ने सभी को प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल में भर्ती कराया था।

एक पक्ष अपनी जमीन पर जबरजस्ती निर्माण कराए जाने व दूसरा पक्ष अपनी जमीन पर निर्माण कराए जाने की बात कहकर मारपीट को अंजाम दिया। उधर बलुआ थानाध्यक्ष धीरेंद्र सिंह का कहना है कि मुकदमा दर्ज है,एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है।

वहीं इस मामले में परिजनों का आरोप रहा कि डायल 100 नम्बर की पुलिस टीम को मौके वारदात से तुरंत सूचना दी गई थी लेकिन कोई नहीं आया। इसके चलते करीब एक घण्टे तक जमकर लाठी डंडे चले। जिलाधिकारी ने एसपी से वार्ता कर लापरवाह पुलिसकर्मियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई का निर्देश जारी किया है।

Attachments area

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top