Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > एटा > सत्येन्द्र सोलंकी एक अच्छे खिलाड़ी, शिक्षक और बेहतरीन इंसान थे --ज्ञानेन्द्र रावत

सत्येन्द्र सोलंकी एक अच्छे खिलाड़ी, शिक्षक और बेहतरीन इंसान थे --ज्ञानेन्द्र रावत

 Shiv Kumar Mishra |  24 Sep 2020 4:17 PM GMT  |  एटा

सत्येन्द्र सोलंकी एक अच्छे खिलाड़ी, शिक्षक और बेहतरीन इंसान थे --ज्ञानेन्द्र रावत
x

एटा। उत्तर प्रदेश। स्थानीय वर्णी जैन इंटर कालेज के क्रीड़ाध्यक्ष रहे सत्येंद्र पाल सिंह सोलंकी के दिल्ली में बेटे के आवास पर हुए असामयिक निधन पर पर्यावरणविद ज्ञानेन्द्र रावत ने गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा है कि सत्येन्द्र सोलंकी का निधन एटा के क्रीड़ा जगत की अपूरणीय छति है। वह मेरे स्कूल, जीआईसी के अभिन्न सहपाठी ही नहीं, एक अच्छे खिलाड़ी , एक कुशल प्रशिक्षक, शिक्षक और बेहतरीन इंसान भी थे। ईश्वर उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान दे, यही परमपिता परमात्मा से प्रार्थना करते हैं।

श्री सोलंकी की सबसे बड़ी खूबी यह रही कि उन्होंने जनपद में न केवल खेलों को प्रोत्साहन दिया बल्कि खेल प्रतिभाओं के उत्तरोत्तर विकास में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन भी किया। वह थे तो वर्णी जैन इंटर कालेज में लेकिन जनपदीय स्तर पर खेलों के विकास में उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। खिलाड़ियों के लिए वह प्रेरणा स्रोत थे ।जहां तक उनमें संस्कारों और शालीनता की बात है, यह गुण उन्हें विरासत में मिले।

गौरतलब है कि इसके लिए तो इनके परिवार की मिसाल तक दी जाती है। इनके पिता श्री डिप्टी एस पी श्री वैरिस्टर सिंह की प्रशासनिक क्षमता की और इनके अग्रज श्री वीरेन्दर पाल सिंह सोलंकी जो अखिल भारतीय कांग्रेस सेवा दल के संघटक रहे हैं, की तो क्षेत्र में और देश में काफी प्रतिष्ठा है। आज यकायक सत्येन्द्र सोलंकी का हम सबके बीच से चला जाना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है । वह सदैव याद आयेंगे। इसमें दो राय नहीं।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it