Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > अयोध्या > बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी की मांग- खत्म हो बाबरी विध्वंस केस, बरी किए जाएं आरोपी

बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी की मांग- खत्म हो बाबरी विध्वंस केस, बरी किए जाएं आरोपी

इकबाल अंसारी का कहना है कि सरकार इस मुकदमे को जल्दी खत्म करे. सुप्रीम कोर्ट का मंदिर के हक में फैसला आ चुका है.

 Arun Mishra |  30 May 2020 10:48 AM GMT  |  दिल्ली

बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी की मांग- खत्म हो बाबरी विध्वंस केस, बरी किए जाएं आरोपी
x

अयोध्या बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी ने सीबीआई कोर्ट में चल रहे ढांचा विध्वंस केस को समाप्त करने की मांग की है. साथ ही उन्होंने इस मामले में आरोपियों को कोर्ट-कचहरी से मुक्ति दिलाए जाने की मांग भी रखी है.

'हिंदू-मुस्लिम का कोई विवाद नहीं'

इकबाल अंसारी का कहना है कि सरकार इस मुकदमे को जल्दी खत्म करे. सुप्रीम कोर्ट का मंदिर के हक में फैसला आ चुका है. इसे सभी ने स्वीकार किया है. अब देश में हिंदू-मुस्लिम का कोई विवाद नहीं है.

दरअसल, रामजन्मभूमि विवाद को पिछले साल 9 नवंबर को आए सु्प्रीम कोर्ट के फैसले ने समाप्त कर दिया. अब विवादित ढांचा विध्वंस को लेकर सीबीआई की अदालत में सुनवाई चल रही है.

इकबाल अंसारी ने सरकार से अपील करते हुए कहा, "सुप्रीम कोर्ट ने तोइकबाल अंसारी का कहना है कि सरकार इस मुकदमे को जल्दी खत्म करे. सुप्रीम कोर्ट का मंदिर के हक में फैसला आ चुका है. इसे सभी ने स्वीकार किया है. अब देश में हिंदू-मुस्लिम का कोई विवाद नहीं है. मंदिर-मस्जिद पर फैसला कर दिया और मंदिर के पक्ष में फैसला आ गया है. कोर्ट के माध्यम से सारा विवाद समाप्त हो गया है और कोर्ट के इस फैसले का सभी लोगों ने सम्मान भी किया है. अब रहा बाबरी विध्वंस का मामला जो सीबीआई का मुकदमा है, सरकार को इसे भी समाप्त कर देना चाहिए."

'मामले को बीत चुके 28 साल'

उन्होंने कहा कि इस मामले को 28 साल बीत चुका है. अब यह मामला समाप्त कर देना चाहिए. अब तक राम मंदिर और बाबरी मस्जिद का मामला राजनीति में था. अब इस मामले को और न बढ़ाया जाए. अब इस मामले को लोग भूल जाएं.

इकबाल अंसारी ने कहा, "हम चाहते हैं कि लोग सौहार्दपूर्ण वातावरण में रहें. अब झगड़ा और फसाद हिंदू-मुस्लिम का विवाद हिंदुस्तान में हम नहीं चाहते हैं. हमारे वालिद साहब के रहने पर अयोध्या में जो हिंदू-मुस्लिम एकता थी, वह अब नहीं दिखाई देती."

बता दें कि अयोध्या विवाद पर फैसला आने के बाद सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर ट्रस्ट का गठन किया जा चुका है और अब मंदिर का निर्माण की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है. वहीं, बाबरी विध्वंस केस में सीबीआई कोर्ट में सीबीआई के गवाहों के बाद अब आरोपियों की गवाही होनी बाकी है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Arun Mishra

Arun Mishra

Arun Mishra


Next Story
Share it