Top
Begin typing your search...

लोकसभा चुनाव से पूर्व फिर BJP व उसके सहयोगी संगठनों को राम व उनके जन्म भूमि की आने लगी यादें!

लोकसभा चुनाव से पूर्व फिर BJP व उसके सहयोगी संगठनों को राम व उनके जन्म भूमि की आने लगी यादें!
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

25 नवम्बर को अयोध्या में होने वाली धर्म सभा से पूर्व आज अयोध्या में विश्व हिन्दू परिषद ने बैठक कर शिला पूजन का कार्य शुरू किया।

अयोध्या से संदीप श्रीवास्तव की रिपोर्ट

अयोध्या : 25 नवम्बर को अयोध्या में होने वाली धर्म सभा से पूर्व आज अयोध्या में विश्व हिन्दू परिषद ने बैठक कर शिला पूजन का कार्य शुरू किया। जिसमें विहिप के अंतर्राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चम्पत राय, केंद्रीय मंत्री राजेंद्र सिंह पंकज, दिगम्बर अखाडा के महंत महंत सुरेश दास सहित अनेक साधु संत उपस्थित रहे। इस मौके पर विहिप चम्पत राय ने कहा की 25 नवम्बर को होने वाली धर्म सभा में एक लाख से अधिक हिन्दुओ के एकत्रित होने की संभावना है।

उन्होंने कहा कि हमे बड़ा दुःख हुआ यह सुन कर की राम जन्मभूमि से भी ज्यादा और भी प्राथमिकताएं है सुप्रीम कोर्ट के लिए इस एक वाक्य ने ही सारे देश को मथ दिया कहीं गुस्सा आया कहीं आक्रोश आया तो कहीं उत्साह भी आया। सारे देश में हिन्दू समाज आक्रोशित आह्लादित हो उठा उसी का परिणाम है यह सभा सारी दुनिया को इस समाज की प्राथमिकताएं समझनी चाहिए।

अयोध्या का संत समाज व् अयोध्या के भक्त 500 साल से इस स्थान के लिए संघर्ष कर रहे है। सारा देश टाला खुलने के बाद इस लड़ाई में शामिल.हो गया। तीन लाख गांव इससे जुड़ गए करोड़ों घरो में मंदिर के प्रारूप पहुंच गए। आधे से ज्यादा मंदिरो में लगने वाले पत्थर भी तरासे जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि 1950 से मुकदमा चलने लगा 15 वर्षो तक हाई कोर्ट में मुकदमा चला जिसके बाद फैसला आया जिसमे कहा गया मंदिर तोड़ कर गुम्मद बनवाया गया था और यह स्पस्ट हुआ की वह जन्मभूमि का ही स्थान है लेकिन कोर्ट ने भूमि के बटवारे का निर्णय दिया था।


चम्पत राय, अंतर्राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, विहिप

हमने बटवारे का केस नहीं दायर किया था जन्मभूमि बदली नहीं जाती मंदिर तो लाखों होते हैं। जिसके.विरोध में हमने सुप्रीम कोर्ट में मुकदमा दायर किया जिसका फैसला 2018 में ही आ जाता लेकिन छल कपट कर इसे लोक सभा चुनाव के बाद टाल दिया गया। उन्होंने कहा की हम 500 स्थानों पर सभाये करेंगे जिसमे लाखो हिन्दू शामिल होंगे।

Next Story
Share it