Top
Begin typing your search...

डॉ प्रवीन तोगड़िया पहुंचे अयोध्या, किये रामलला के दर्शन और बोले बड़ी बात!

डॉ प्रवीन तोगड़िया पहुंचे अयोध्या, किये रामलला के दर्शन और बोले बड़ी बात!
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद नेता डॉ प्रवीणभाई तोगडिय़ा समर्थकों और पुलिस-प्रशासन के बीच रविवार को दिन भर लखनऊ से लेकर अयोध्या तक लुका छिपी का खेल चलता रहा। शाम को तोगडिय़ा अयोध्या पहुंचे लेकिन उनके समर्थकों को एक जगह टिकने नहीं दिया गया। तोगडिय़ा ने घोषणा की थी कि वह 21 अक्टूबर को लखनऊ के कांशीराम ईको गार्डेन में धर्मसभा की बैठक कर समर्थकों सहित अयोध्या कूच करेंगे। इसके बाद 22/23 अक्टूबर को वह अयोध्या में समर्थकों सहित धरना देंगे। प्रशासन ने उनके लखनऊ व अयोध्या के कार्यक्रमों पर रोक लगा दी थी लेकिन शनिवार शाम पुलिस-प्रशासन का रुख बदल गया। लखनऊ में धर्मसभा कर शाम को वह अयोध्या कूच कर गए।

रात्रि आठ बजे के करीब उनका काफिला जैसे ही अयोध्या-फैजाबाद बाईपास पर पहुंचा तो साकेत पेट्रोलपंप के निकट उसे रोक दिया गया। वे चार-पांच दर्जन समर्थकों के साथ मंदिर आंदोलन के शलाका पुरुष रामचंद्रदास परमहंस की सरयू तट स्थित समाधि की ओर रवाना हुए। यहां उनका इंतजार करीब आधा दर्जन संत कर रहे थे। सीओ अयोध्या आरके साव ने कहा, तोगडिय़ा आएं दर्शन-पूजन करें, उससे कोई समस्या नहीं है पर उन्हें ऐसे किसी कार्यक्रम की इजाजत नहीं दी जा सकती, जिससे कानून-व्यवस्था संबंधी समस्या उठ खड़े हों।

इससे पूर्व शाम करीब छह बजे तोगडिय़ा के अयोध्या पहुंचने से पूर्व ही पुलिस ने उनके समर्थकों को खदेड़ दिया। उन होटलों-धर्मशालाओं पर भी कड़ी निगरानी रखी गई, जहां तोगडिय़ा के समर्थकों के होने की संभावना थी। पुलिस के रुख से तोगडिय़ा समर्थकों में भगदड़ का आलम था। अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के प्रांतीय महामंत्री अंकुर अवस्थी ने प्रशासन पर वादाखिलाफी का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, रविवार को सुबह तक प्रशासन कार्यक्रम की इजाजत देने को तैयार था पर एन वक्त प्रशासन ने पलटी मारी और जगह-जगह पर बाधा खड़ी करने में लग गया। पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार 22 को उनका धरना व 23 अक्टूबर को संकल्पसभा के साथ रामलला सहित कुछ अन्य प्रमुख मंदिरों का दर्शन प्रस्तावित है।

मंदिर नहीं तो हिंदू का वोट नहीं : तोगडिय़ा

लखनऊ में ईको गार्डन में धर्मसभा के बाद अयोध्या कूच करने से पहले हजारों समर्थकों के बीच तोगडिय़ा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि पूर्ण बहुमत से हमारी सरकार बनेगी तो अयोध्या में राम मंदिर बनेगा। सरकार को बने हुए चार साल से अधिक हो गए लेकिन, भाजपा सरकार ने एक बार भी राम का नाम तक नहीं लिया। प्रभु श्रीराम का मंदिर कब बनेगा, कोई कुछ बताने को तैयार नहीं है। केंद्र सरकार की नीतियों, महंगाई, बेरोजगारी, महंगे डीजल और पेट्रोल को भी लेकर सरकार को आड़े हाथों लिया। इस दौरान तोगडिय़ा ने मंच से नारा दिया कि अयोध्या में राम मंदिर नहीं तो हिंदू का वोट नहीं।

पूरा इलाका जय श्रीराम के उद्घोष से गूंजा

इससे पहले ईको गार्डन में रविवार को होने वाली धर्मसभा की अनुमति को लेकर जिला प्रशासन शनिवार देर रात तक ऊहापोह की स्थिति में था। शनिवार देर रात ही उनके आने की अनुमति जिला प्रशासन ने दी। धर्मसभा में शामिल होने के लिए देश के कोने-कोने से हजारों की संख्या में लोग पहुंचे। सुबह से ही इको गार्डन में हर तरफ भगवा ध्वज लहरा रहे थे। डॉ. तोगडिय़ा जैसे ही मंच पर पहुंचे, पूरा इलाका जय श्रीराम के उद्घोष से गूंज उठा।

Next Story
Share it