Top
Breaking News
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > अयोध्या > संसद में राम मंदिर ट्रस्ट का हुआ ऐलान, मंदिर आंदोलन के नायकों में शुमार कल्याण सिंह का आया बयान बोले जीते जी....

संसद में राम मंदिर ट्रस्ट का हुआ ऐलान, मंदिर आंदोलन के नायकों में शुमार कल्याण सिंह का आया बयान बोले जीते जी....

हिंदू चेहरे के रुप में बड़ी पहचान रखने वाले कल्याण सिंह का राम मंदिर आंदोलन से पुराना नाता रहा है।

 Sujeet Kumar Gupta |  5 Feb 2020 1:44 PM GMT  |  नई दिल्ली

संसद में राम मंदिर ट्रस्ट का हुआ ऐलान, मंदिर आंदोलन के नायकों में शुमार कल्याण सिंह का आया बयान बोले जीते जी....

अयोध्या। हिंदू चेहरे के रुप में बड़ी पहचान रखने वाले कल्याण सिंह का राम मंदिर आंदोलन से पुराना नाता रहा है। छह दिसंबर 1992 को जब अयोध्या में विवादित ढांचे का विध्वंस किया गया तो कल्याण सिंह ने पूरी घटना की जिम्मेदारी खुद ले ली थी और सरकार से इस्तीफा दे दिया था।

अयोध्या आंदोलन के नायकों में शुमार पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने राम जन्मभूमि स्थल पर मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट की घोषणा पर खुशी जताई है। उन्होंने कहा कि करोड़ों लोगों की वर्षों की इच्छा पूरी हो गई। ट्रस्ट की घोषणा के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह तथा मुख्यममंत्री योगी आदित्यनाथ को बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि वर्षों की साध पूरी हो गई। अब अपने जीते जी 'श्रीराम जन्मभूमि' स्थल पर प्रभु श्रीराम का मंदिर देख सकूंगा।

कल्याण सिंह ने अपने मुख्यमंत्रित्वकाल के दौरान राम मंदिर आंदोलन को याद करते हुए कहा- "राम मंदिर के लिए मैं एक दिन के लिए जेल भी गया और 2000 रुपए जुर्माना भी दिया था। मेरे ऊपर सीबीआई अदालत में आपराधिक साजिश का मुकदमा चल रहा है। अगर सिद्ध हो गया तो सजा हो जाएगी, नहीं सिद्ध हुआ तो बरी हो जाऊंगा।"

प्रधानमंत्री मोदी की तरफ से मंदिर निर्माण को ट्रस्ट की घोषणा के बाद कल्याण सिंह ने बुधवार को कहा कि ट्रस्ट में दलित समाज के व्यक्ति को सदस्य बनाने का फैसला उचित है। लेकिन, पिछड़े समाज के भी किसी व्यक्ति को भी ट्रस्ट में स्थान दिया जाना चाहिए ताकि मंदिर से पिछड़ों के जुड़ाव को भी सम्मान देने का संदेश जाए और हिंदू समाज के सामाजिक समरसता का भाव प्रमाणित हो। उन्होंने कहा कि पिछड़ी जातियां सब की सब भगवान राम की भक्त हैं।

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के 9 नवंबर के फैसले के 88 दिन बाद सरकार ने राम मंदिर बनाने के लिए ट्रस्ट की घोषणा कर दी। इसमें 15 सदस्य होंगे। बुधवार को दिल्ली चुनाव से ठीक 3 दिन पहले और कैबिनेट के फैसले के फौरन बाद प्रधानामंत्री नरेंद्र मोदी संसद पहुंचे। वहां लोकसभा में उन्होंने प्रश्नकाल से पहले ट्रस्ट बनाए जाने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट का नाम 'श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र' होगा। इसी के साथ केंद्र सरकार ने अपने कब्जे की 67.703 एकड़ जमीन भी ट्रस्ट को सौंप दी है। यह पूरा इलाका मंदिर क्षेत्र होगा।


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it