Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > फिरोजाबाद > शिवपाल यादव ने की घोषणा फिरोजाबाद लोकसभा से चुनाव लड़ने की घोषणा, तीन लोकसभा उम्मीदवार किये घोषित

शिवपाल यादव ने की घोषणा फिरोजाबाद लोकसभा से चुनाव लड़ने की घोषणा, तीन लोकसभा उम्मीदवार किये घोषित

 Special Coverage News |  3 Feb 2019 12:32 PM GMT  |  फिरोजाबाद

शिवपाल यादव ने की घोषणा फिरोजाबाद लोकसभा से चुनाव लड़ने की घोषणा, तीन लोकसभा उम्मीदवार किये घोषित

फिरोजाबाद: प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव ने शिकोहाबाद में हुई जनसभा को संबोधित करते हुए फीरोजाबाद से चुनाव लडऩे का ऐलान कर दिया। शिवपाल यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कोई जिला नहीं है जहां सड़कों का जाल न बिछा हो, नहरें न बनी हों। किसानों के लिए वो सब कुछ किया जो एक किसान को चहिये पर आज क्या हो रहा है। भाजपा पर हमला करते हुआ पूछा की अब 56 इंच का सीना कहां गया, देश की सीमा पर कब्जा होता गया और देश पर कर्ज बढ़ता गया।

राष्ट्रपति भी सपा का होता और सीएम भी

उन्होंने कहा कि उनकी अगुवाई में सारे विपक्षी सपा के बैनर तले आने को तैयार थे। लेकिन होने नहीं दिया गया। शिवपाल ने जनता को बताया कि बीजेपी से कौन मिला था? किसने एकजुट नहीं होने दिया। अगर सब एक हो जाते तो आज देश की सूरत कुछ और होती। राष्ट्रपति भी सपा का होता और सीएम भी।

हम नेताजी के साथ हमेशा थे और रहेंगे

प्रसपा अध्यक्ष ने कहा कि हम नेताजी के साथ हमेशा थे और रहेंगे। हमने नेताजी को चुनाव लडऩे का प्रस्ताव दिया है। हम उन्हें जिताएंगे। आपने जो प्यार मोहब्बत दिखाया है हम उसे सलाम करते हैं। आपकी बात को ठुकरायेंगे नहीं। उन्होंने आगे कहा कि हमने कभी सोचा नहीं था कि नेता जी के रहते कभी परिवार टूटेगा। मैंने सपा की रजत जयंती में इकलौते बेटे की कसम खायी थी कि अखिलेश के रहते कभी सीएम नहीं बनूंगा। मैं कुछ नहीं चाहता था बस सम्मान चाहता था। परिवार को एक रखना चाहता था। शिवपाल ने दुखी होते हुए कहा कि नेताजी और मेरे खिलाफ गन्दा लेटर लिखा गया। रामगोपाल यादव का जिक्र करते हुए कहा कि कभी प्रोफेसर की बात को नहीं टाला, जवाब भी नहीं दिया। पार्टी बनाने से पहले चार बार दिल्ली गया। मैंने 45 साल तक सपा का झण्डा उठाया, उसे टाइप 6 का बंगला मिला और हम पर भाजपा से जुडऩे का आरोप लगाया।

सेकुलर पार्टियां एक हो जाएं, गठबंधन को तैयार

शिवपाल ने आगे कहा कि अगर आप कहेंगे तो ऐसे सौ बंगले ठुकरा सकता हूं। मैं झोपड़ी में रहा हूं और रह सकता हूं। यदि चुनाव की बात है तो चुनाव लडऩा पड़ेगा। उन्हें दुखी होते हुए कहा कि मुझे सपा से मलाई चाटने वालों ने निकाला। मैं जनता में रहा और लोग पैसा कमाते रहे। मैंने पहले कहा था कि एक वोट और एक नोट देना पड़ेगा। ये चुनाव आपको लडऩा पड़ेगा। गठबंधन पर शिवपाल बोले कि मैंने कहा है कि समान विचारधारा की पार्टियां मेरे साथ आ जाएं। सेकुलर पार्टियां एक हो जाएं। मैं गठबंधन को तैयार हूं। शिवपाल ने कहा कि मैं किसानों के हित की बात करना चाहता हूं। पुरानी पेंशन और छात्रवृति की बात करना चाहता हूं।

जनसभा में शिवपाल यादव के भाषण से पूर्व राष्ट्रीय महासचिव व शिवपाल के बेटे आदित्य यादव बोले कि लाल टोपी पहनने से समाजवादी नहीं बनते। जनता की लड़ाई लडऩे वाले समाजवादी होते हैं। सांसद अक्षय यादव का नाम लिए बगैर बोले कि पांच साल पहले जो जनप्रतिनिधि आपको दिया था उसने फीरोजाबाद में घर तो बहुत बढ़ा बनाया मगर दिल में जगह नहीं बना पाए। यह चाबी आपके नेता के पास है।

उम्मीदवारों की घोषणा की

शिवपाल ने खुद के फीरोजाबाद लोकसभा सीट से चुनाव लडऩे की बात करते हुए अन्य सीटों से उम्मीदवारों की भी घोषणा की। उन्होंने संजय सक्सेना को रामपुर, मेरठ से कवियत्री अनामिका अंबर को घोषित किया।


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top