Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > गाजियाबाद > ब्राह्मण अब भंडारे और मूर्तियों से नहीं मानेंगे अब उनको अपने अधिकार चाहिये - आचार्य प्रमोद कृष्णम

ब्राह्मण अब भंडारे और मूर्तियों से नहीं मानेंगे अब उनको अपने अधिकार चाहिये - आचार्य प्रमोद कृष्णम

 Shiv Kumar Mishra |  9 Aug 2020 12:27 PM GMT  |  गाजियाबाद

ब्राह्मण अब भंडारे और मूर्तियों से नहीं मानेंगे अब उनको अपने अधिकार चाहिये - आचार्य प्रमोद कृष्णम
x

काल्कि पीठाधीश्वर वर्चुअल मीटिंग में ब्राह्मण जनजागरण अभियान को आज संबोधित किया जिसमें सौ से ज्यादा ब्राह्मणों ने भाग लिया. इस अवसर पर उन्होंने कहा कि ब्राह्मण अब भंडारे और मूर्तियों से नहीं मानने वाला है उसे सत्ता में अधिकार चाहिए.

उत्तर प्रदेश भर में हो रही ब्राह्मण हत्या और अपराध एवं उपेक्षा से ब्राह्मण समाज मैदान में उतरने का मन बना चुका है. इसी कड़ी में ज़ूम एप पर एक मीटिंग के आयोजन में काल्कि पीठाधीश्वर आचार्य प्रमोदकृष्णम ने 108 ब्राह्मणों को संबोधित किया. मीटिंग में पूरे उत्तर प्रदेश से 108 प्रबुद्ध जनों में भाग लिया था, इस मीटिंग में साधू, वरिष्ठ, पत्रकार, छात्र,महिला हर तरह के लोगों ने सहभागिता की, महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष प्रीती तिवारी, शिल्पा दीक्षित, डा0 आशीष दीक्षित,नागेंद्र पाठक, अनिल पांडेय, अक्षय पाराशर, आर्यन मिश्रा, धर्मेंद्र कौशिक, अक्षयवीर त्यागी, त्रिनेन्द्र मोहन, सतीश शर्मा सहित 108 लोग मौजूद रहे.

अपने वक्तव्य के दौरान आचार्य प्रमोदकृष्णम ने कहा ये लड़ाई कुर्सी की नहीं है ये सत्ता के अधिकार की जंग है जो हक मिलने तक चलती रहेगी,मूर्तियां लगाने का स्वागत है लेकिन ब्राह्मण अब भंडारे और मूर्तियों से नहीं मानेंगे अब उनको अपने अधिकार चाहिये, ये लड़ाई सत्ता में भागीदारी की है, उन्होंने ये भी कहा कि अगली मीटिंग वर्चुअल नहीं होगी अब 1008 लोगों की एक सभा का आयोजन होगा जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाएगा !

इस ब्राह्मण जनजागरण अभियान का आयोजन गौरव कुमार दीक्षित ने किया था जिसमें सुरेंद्र त्रिपाठी, अक्षय पाराशर, आदित्य शर्मा, आर्यन मिश्रा ने भी सहयोग किया

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it