Top
Begin typing your search...

गाजियाबाद: पुलिस मुठभेड में 25 हजार का इनामी अभियुक्त गिरफ्तार

गाजियाबाद:  पुलिस मुठभेड में 25 हजार का इनामी अभियुक्त गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजियाबाद में नवागत एसएसपी सुधीर कुमार सिंह के चार्ज लेने के बाद जिले में मुठभेड़ का दौर जारी हो गया है. बीते तिन चार दिन से लगातार मुठभेड़ की खबरें सामने आ रही है. प्रदेश में बढ़ रहे अपराध के ग्राफ को लेकर मुख्यमंत्री ने भी नाराजगी जताई थी उसी के तहत पुलिस अपराधियों के खिलाफ एक मुहीम चला रही है.

इस कड़ी में थाना लोनी पुलिस ने 25 हजार रुपये का इनाम घोषित अपराधी को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया। चौकी प्रभारी चिरौडी कमलेश कुमार ने सूचना दी कि बागपत की तरफ से दो बदमाश बिना नम्बर स्पलेंण्डर मोटर साइकिल से आ रहे थे रोका तो नही रुके। और बन्थला लोनी की तरफ भागे है। वायरलैस से सूचना होने पर पुलिस फोर्स निठौरा की तरफ बढ़ी। निठौरा गाँव पार करके सामने से एक मोटर साइकिल आती दिखायी दी। जिसको रोकने की कोशिश की तो वाइक पर सवार बदमाशो ने पुलिस पार्टी पर जान से मारने की नियत से फायर किये। आत्मरक्षा की गयी फायरिंग से एक बदमाश के पैर में गोली लगी। जिसे पकड लिया गया। दूसरा बदमाश अंधेरा का लाभ उठाकर फरार हो गया। गिरफ्तार बदमाश थाना लोनी से 25 हजार रुपये का इनाम घोषित अपराधी है।

गिरफ्तार फिरोज पुत्र अफजाल खान उम्र 32 वर्ष निवासी 20 फुटा प्रेमनगर थाना लोनी गाजियाबाद ने पूछने पर बताया कि 7.जुलाई .2019 को मैं रात्रि में अपने साथी जावेद के साथ वाइक से बागपत की तरफ से आ रहा था। रास्ते में चिरौडी पुलिस द्वारा मुझे रोका गया मैं नही रुका भागते हुए बन्थला रोड से निठौरा की तरफ मुड गया। रास्ते में पुलिस वालो से घिरा देख मेरी वाइक गिर पडी।

पुलिस ने हम लोगो से कई बार अपने हवाले करने को कहा परन्तु हम लोग नही रुके। और कच्चे रास्ते परखेतो के किनारे आड लेकर पुलिस वालो पर फायिरंग करने लगे। जिस पर पुलिस वालो भी फायर किये जिससे मेरे दाहिने पैर में गोली लग गयी और मैं गिर गया तथा मेरा साथी जावेद मुझे घायल व खुद को भी घिरता देख मौके से फायर करते हुए भाग गया। फिर मुझे पुलिस वालो ने पकड लिया। साथी जावेद जो मुझे एक बार जेल में मिला था, तबसे जानकारी है परन्तु उसके पते के बारे में कोई जानकारी नही है। वह कहाँ का रहने वाला है।


Special Coverage News
Next Story
Share it