Top
Begin typing your search...

गाजियाबाद: श्मशान हादसे का मुख्य आरोपी अजय त्यागी गिरफ्तार, ऐसे पकड़ा गया फरार ठेकेदार

गाजियाबाद-श्मशान हादसे मामले का आरोपी 25000 का ईनामी ठेकेदार अजय त्यागी गिरफ्तार..

गाजियाबाद: श्मशान हादसे का मुख्य आरोपी अजय त्यागी गिरफ्तार, ऐसे पकड़ा गया फरार ठेकेदार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजियाबाद के मुरादनगर में श्मशान में हुए हादसे का मुख्य आरोपी अजय त्यागी को गिरफ्तार कर लिया गया है. हादसे के बाद से अजय त्यागी फरार था. इससे पहले जिला पुलिस ने तीन आरोपी पहले ही गिरफ्तार कर लिए है.

गाजियाबाद पुलिस ने आरोपी अजय त्यागी पर 25 हजार रुपये का ईनाम घोषित किया था. हादसे में 25 लोगों की मौत हो गई थी. श्मशान घाट में घटिया निर्माण के चलते छत गिर गई थी जिसके चलते यह हादसा हुआ था. इस मामले में ठेकेदार, नगरपालिका की कार्यपालन अधिकारी समेत कई लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी. इस मामले में ईओ, इंजीनियर और सुपरवाइजर को गिरफ्तार कर लिया गया था, जबकि ठेकेदार फरार चल रहा था.

क्या था मामला

गाजियाबाद के मुरादनगर में रविवार को एक दर्दनाक हादसा हुआ. यहां श्मशान घाट की छत गिरने से 25 लोगों की मौत हो गई. इस घटना के बाद सीएम योगी मेरठ मंडल आयुक्त और आईजी रेंज से जांच रिपोर्ट मांगी है. साथ ही घटना में जिम्मेदारी भी तय करने को कहा है.

इस घटना के बाद से सवाल उठ रहा है कि क्या श्मशान घाट में हुए घोटाल ने ले ली लोगों की जान? स्थानीय लोगों के मुताबिक, तीन महीने पहले श्मशान घाट में लेंटर डाला गया था, जिसमें कच्ची रेत का इस्तेमाल किया गया. लोगों ने कहा कि श्मशान घाट के लेंटर में घोटाला हुआ, जिसका नतीजा ये था कि जरा सी बारिश में ढह गया.

प्राइवेट बिल्डर अजय त्यागी ने इस निमार्णकार्य का ठेका लिया था, जो अभी तक फरार बताया जा रहा है. इधर, आईजी मेरठ जोन प्रवीण कुमार ने कहा कि इस मामले में क्रिमिनल लायबिलिटी तय होगी.

बता दें कि रविवार सुबह दिल्ली-एनसीआर में बारिश हो रही थी. मुरादनगर थाना क्षेत्र के उखरानी/ बम्बा रोड स्थित श्मशान घाट पर कुछ लोग एक व्यक्ति के अंतिम संस्कार में शामिल होने आए थे. बारिश की वजह से ये लोग छत के नीचे थे तभी श्मशान घाट का लेंटर भरभराकर गिर गया. इसमें कई लोग मलबे में दब गए, जिसमें 25 लोगों की मौत हो गई.

सीएम योगी ने मांगी थी जांच रिपोर्ट

घटना पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लेते हुए तत्काल राहत पहुंचाने और कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. उन्होंने मामले की जांच रिपोर्ट भी मांगी है. सीएम योगी आदित्यानाथ ने कहा कि मंडल आयुक्त मेरठ और आईजी रेंज को मौके पर जाकर घटना की रिपोर्ट देने का आदेश दिया है. साथ ही मृतकों के परिजनों को प्रदेश सरकार की ओर से दो-दो लाख रुपये मुआवजा दिया जाएगा.

पीएम ने जताया था दुख

इस हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट किया, 'उत्तर प्रदेश के मुरादनगर में हुए दुर्भाग्यपूर्ण हादसे की खबर से अत्यंत दुख पहुंचा है. राज्य सरकार राहत और बचाव कार्य में तत्परता से जुटी है. इस दुर्घटना में जान गंवाने वालों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं, साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं.'

अस्पताल पहुंचे गाजियाबाद के सांसद वीके सिंह ने कहा कि घटना की निष्पक्ष जांच होगी और दोषियों के खिलाफ एक्शन होगा. करीब 38 घायल अस्पताल लाए गए थे, जिनमें 23 लोगों की मौत हो गई है.

इस हादसे पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लेते हुए गाजियाबाद प्रशासन को तत्काल राहत पहुंचाने के निर्देश दिए हैं. साथ ही घटना की पूरी रिपोर्ट मांगी है. सीएम ने मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने के भी निर्देश दिए.

गाजियाबाद के थाना मुरादनगर क्षेत्र के उखलारसी गांव में एक व्यक्ति की मृत्यु हो जाने पर परिजन और सगे संबंधी मृत व्यक्ति को दाह संस्कार के लिए श्मशान घाट लेकर पहुंचे थे. परिजन मृत व्यक्ति का अंतिम संस्कार कर ही रहे थे तभी श्मशान घाट का लैंटर भरभरा कर गिर पड़ा.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it