Top
Begin typing your search...

गाजियाबाद पुलिस ने कराया 35 परिवारों में सुलेहनामा, परिजनों में दौड़ी ख़ुशी की लहर

गाजियाबाद पुलिस ने कराया 35 परिवारों में सुलेहनामा, परिजनों में दौड़ी ख़ुशी की लहर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में आज जिले महिला पुलिस ने एक नेक काम किया है. महिला थाना इंचार्ज सुनीता मलिक ने पति पत्नी के झगड़ों कप आपसी सहमती से निपटने का काम बखूबी निभाया. जिसमें 355 परिवार के झगड़े आपसी सहमती और काउंसलिंग के लिए आज शामिल किये गये. जिसमें 35 परिवारों में आपसी सुलहनामा कराया गया. जो इस साल के सबसे बड़ा काम रहा है.


महिला थाना इंचार्ज के साथ इस कार्य में काउंसलर निरंजन लाल , श्रीमती सुमन गोयल , गार्गी त्यागी , लज्जा यादव और डॉ रागिनी सिंह ने सहयोग किया. इंस्पेक्टर सुनीता मलिक ने इस साल के पेंडिग चल रहे सभी 355 परिवार आज कांउसलिंग के लिए बुलाये थे. जिसमें 35 परिवार आपसी राजीनामा करके अपने परिवार में रहने चले गये. यकायक तिन दर्जन परिवारों में लौटी ख़ुशी से सभी खुश नजर आ रहे थे. बाकी परिवारों को भी जल्द फिर से बुलाया गया है.


बता दें कि इस तरह के आपसी राजीनामा के लिए प्रदेश के प्रत्येक जिले में रविवार को महिला थाने में पति और पत्नी व परिजनों को काउंसिलग के लिए बुलाया जाता है. अगर एक दिन में यह बात नहीं बनती है तो फिर से उन्हें तारीख देकर बुलाया जाता है. पुलिस का प्रयास होता है कि जल्द से जल्द आपसी सुलहनामा बना रहे. और परिवार में खुशहाली बनी रहे.

Special Coverage News
Next Story
Share it