Top
Begin typing your search...

गाजियाबाद पुलिस ने 24 घन्टे में सकुशल घर पहुंचाया अपहृत बच्चा, 5 अपहरणकर्ता गिरफ्तार

अपहरणकर्ताओं ने बच्चे के पिता को फोन कर 2 करोड़ रुपये फिरौती मांगी थी।

गाजियाबाद पुलिस ने 24 घन्टे में सकुशल घर पहुंचाया अपहृत बच्चा, 5 अपहरणकर्ता गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजियाबाद : यूपी के जनपद गाजियाबाद की पुलिस ने एक अपहत मासूम को उसके घर पहुंचाकर एक परिवार को उसकी खुशियां लौटा दीं। दरअसल, दिल्ली के कोंडली में रहने वाले एक किराना व्यापारी के 12 साल के बच्चे का शुक्रवार को कुछ लोगों ने फिरौती के लिए अपरहण कर लिया था। अपहरणकर्ताओं ने बच्चे के पिता को फोन कर 2 करोड़ रुपये फिरौती मांगी थी। फिरौती का फोन आने के बाद बच्चे के पिता ने शुक्रवार को अशोक नगर थाने बच्चे अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। इसके बाद पुलिस ने उसकी तलाश तेज कर दी थी। पुलिस ने बच्चे की बरामदगी के लिए कई जगहों पर छापेमारी भी की थी।

इसी बीच खोड़ा पुलिस को वंदना एंक्लेव में कुछ संदिग्धों की एक बच्चे के साथ रहने की सूचना मिली। आज सुबह पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर वंदना एक्लेव में दबिश दी। मौके से पुलिस ने बंधक बच्चे को बरामद कर लिया और साथ ही पांच अपहरणकर्ताओं को भी दबोच लिया। पुलिस ने 24 घंटों में भी कम समय में एक 12 वर्षीय बच्चे को अपहर्ताओं से मुक्ति दिलाने में सफलता पाई है।




खोड़ा थाना एसएचओ धर्मेन्द्र कुमार ने बताया कि अपहरणकर्ताओं ने बच्चे को वंदना एंक्लेव में एक घर में बंधक बना रखा हुआ था। आरोपियों से दो तमंचे और तीन चाकू बरामद किए हैं। साथ ही आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि आरोपियों की पहचान विजय, आकाश, रवि, करण और राजा गौड़ के रूप में हुई है। पुलिस की पूछताछ में पता चला है कि विजय और आकाश बच्चे के पिता के यहाँ काम करते थे और दोनों आरोपी बच्चे को दिल्ली के बाल विद्या भवन स्कूल में लेकर जाते थे। इन दोनों आरोपियों ने ही मिलकर अपहरण की साजिश रची थी।

अरुण मिश्रा

Arun Mishra
Next Story
Share it