Top
Begin typing your search...

गाजियाबाद पुलिस की बड़ी कामयाबी, 12 घंटे में अपह्रत बाप बेटी को सकुशल बरामद कर अपहर्ता दबोचे

थाना इंदिरापुरम पुलिस ने रविवार सुबह हुए अपहरण का बारह घंटे में किया खुलासा.

गाजियाबाद पुलिस की बड़ी कामयाबी, 12 घंटे में अपह्रत बाप बेटी को सकुशल बरामद कर अपहर्ता दबोचे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाज़ियाबाद के इंदिरापुरम थाना इलाके के वसुंधरा में इंजीनियर और उसकी बेटी का अपहरण कर लिया गया. यह अपहरण इंदिरापुरम इलाके से किया गया था, अपहरण के बाद 80 लाख की फिरौती मांगी गई थी. बाप बेटी को पुलिस ने मात्र 12 घण्टे मे सकुशल बरामद कर आरोपी गिरफ्तार को भी गिरफ्तार कर लिया. गाजियाबाद पुलिस के इस सराहनीय कार्य की जनता खूब प्रशंसा कर रही है.

एसएसपी सुधीर कुमार ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि वसुंधरा निवासी इंजिनियर कुनाल सैन द्रोणाचार्य अपार्टमेन्ट में रहते है. रविवार को सुबह कुनाल अपनी बेटी श्रुति को लेकर अपनी वाइक से निकले. काफी देर बाद भी वो न तो गन्तव्य स्थान पर पहुंचे न ही घर वापस आये. पत्नी ने जब उनके फोन पर संपर्क करना चाहा तो उनका फोन भी नहीं लगा. पत्नी ने घबरा कर यह जानकारी इंदिरापुरम पुलिस को दी. थाना प्रभारी दीपक शर्मा ने तत्परता दिखाते हुए अपनी पूरी टीम इस कार्य पर लगा दी.

लेकिन यही पर अपहर्ता ज्ल्द्वाजी में पुलिस के जाल में फंस गया. अपहर्ता ने कुनाल के घर पर फोन कर पचास लाख ब उनकी बहन चेता दत्ता के फोन पर बात करके पचास लाख और कुनाल की बहिन के फोन पर तीस लाख की फिरौती की रकम मांगी गई. पुलिस ने अपना जाल बिछाते हुए अपहर्ता से कहा कि एक करोड़ तीस लाख की रकम का इंतजाम करने में कुछ समय लगेगा उसके लिए आप टोकन मनी ले लो और उन दोनों को कुछ मत करना.

एसएसपी ने बताया कि बीएस अपहर्ता यहीं मात खा गये और वो टोकन मनी लेने को तैयार हो गये. पुलिस ने पांच लाख रकम लेकर पुलिस कर्मी सादे वस्त्र में लगा दिए. अपहर्ता जब रकम लेने आया तो पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. उसके कब्जे से अपह्रत किये गये बाप बेटी को सबसे पहले पुलिस ने सकुशल बरामद कर लिया.

गाजियाबाद पुलिस के इस खुलासे पर डीजीपी ने जिले के एसएसपी और उनकी टीम की खूब प्रसंशा की है. वहीँ एसएसपी सुधीर कुमार ने भी बाप बेटी के सकुशल बरामदगी पर राहत की सांस ली. सबसे बड़ी बात यह थी कि घटना का पटाक्षेप सिर्फ बारह घंटे में हो गया. बाप बेटी को सकुशल पाकर परिजन भी ख़ुशी से फुले नहीं समा रहे थे. वहीं जिसने भी यह मामला सुना उसने पुलिस की प्रसंशा जरुर की.

Special Coverage News
Next Story
Share it