Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > गाजियाबाद > गाजियाबाद के विजयनगर इलाके में मकान में हुआ सिलेंडर से विस्फोट, पांच घायल

गाजियाबाद के विजयनगर इलाके में मकान में हुआ सिलेंडर से विस्फोट, पांच घायल

 Special Coverage News |  9 March 2019 6:48 AM GMT  |  गाजियाबाद

गाजियाबाद के विजयनगर इलाके में मकान में हुआ सिलेंडर से विस्फोट, पांच घायल

दिल्ली से सटे गाजियाबाद के थाना विजय नगर इलाके की एक कॉलोनी में शनिवार की सुबह अचानक उस वक्त भगदड़ मच गई। जब लोगों ने एक मकान में जोरदार ब्लास्ट होने के बाद मकान को गिरने की आवाज सुनी ।जैसे ही लोगों ने इस आवाज को सुना दो लोग मौके पर दौड़े और आनन-फानन में स्थानीय पुलिस को सूचित करते हुए मलबे में दबे लोगों को निकालने का प्रयास शुरू किया। इस दौरान ऊपर नीचे बने दोनों फ्लैटों में रहने वाले 2 बच्चों समेत करीब 6 लोग घायल हो गए। जिनमें से तीन की हालत बेहद गंभीर बताई जा रही है। जिन्हें दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है ।जबकि एक बच्चा और पति पत्नी को गाजियाबाद के ही अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ब्लास्ट के बाद मकान गिरने का कारण खाना बनाते वक्त गैस के सिलेंडर में लगी आग को माना जा रहा है ।जैसे ही इसकी सूचना पुलिस को मिली तो राहत और बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की टीम और दमकल विभाग की टीम को भी बुलाया गया। कड़ी मशक्कत के बाद मलबे में दबे पति पत्नी और एक बच्चे को कड़ी मशक्कत के बाद बाहर निकाला गया।

आपको बताते चलें कि वाजिद नाम का एक शख्स अपनी पत्नी रजिया और बेटा उमेश के साथ विजय नगर कॉलोनी में बने ईडब्ल्यूएस के चार मंजिला फ्लैटों में नीचे के मकान नम्बर ई 520 में रहते हैं। जबकि इनके ऊपर वाले ई 516 नम्बर फ्लैट में योगेश नाम के शख्स का परिवार रहा है ।शुरुआती जांच में पता चला है। कि नीचे के मकान में वाजिद के घर गैस पर खाना बनाया जा रहा था। इसी दौरान गैस का सिलेंडर लीक हो गया ।जिसके बाद सिलेंडर में आग लग गई।


हालांकि शुरुआती दौर में घर के लोगों ने आग को बुझाने का प्रयास किया ।लेकिन देखते ही देखते पूरे सिलेंडर को आग ने अपनी चपेट में ले लिया। और घर में मौजूद लोग बाहर निकल भी नहीं पाए थे इसी बीच सिलेंडर में जोरदार ब्लास्ट हो गया। जिसके बाद मकान की छत उड़ गई ।और ऊपर वाला फ्लैट भी नीचे आ गिरा। इस दौरान वाजिद उनकी पत्नी रजिया और ओवेश सिलेंडर के कारण लगी आग से झुलस गए और ऊपर से गिरा मलबे के नीचे दब गए इसके अलावा ऊपर वाले मकान में भी एक पुरुष 2 महिला और एक बच्चा मौजूद था। वह भी गंभीर रूप से घायल हो गए। जैसे ही जोरदार ब्लास्ट हुआ तो इलाके में भगदड़ मच गई। और आनन-फानन में स्थानीय पुलिस और दमकल विभाग की टीम को सूचित किया गया।


सूचना के आधार पर मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थिति का जायजा लेने के बाद एनडीआरएफ की टीम को मौके पर बुलाया। और कड़ी मशक्कत के बाद मलबे में फंसे पति पत्नी और बच्चे को बाहर निकाला। जिनकी हालत बेहद गंभीर बताई जा रही है। शुरुआती दौर में 2 बच्चों समेत सभी 7 लोगों को नजदीक के अस्पताल में भेजा गया। लेकिन एक बच्चा और एक महिला और एक पुरुष की हालत बिगड़ते देखो ने दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में रेफर कर दिया गया है।

आसपास के लोगों का कहना है कि जिस वक्त जोरदार ब्लास्ट हुआ तो लोग समझ भी नहीं पाए थे ।कि आखिर यह जोरदार आवाज कहां से आई ।और थोड़ी देर बाद ही मकान के गिरने की भी आवाज आई तो लोग मौके पर दौड़े और पुलिस को सूचित किया गया ।लोगों का यह भी कहना है कि यहां पर बने मकान काफी पुराने हैं। मकानों की हालत भी जर्जर है। इस कारण भी ऊपर वाला फ्लैट गिरा है।

उधर इस पूरे मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंचे ।और क्षेत्राधिकारी धर्मेंद्र चौहान ने बताया कि शुरुआती जांच में पता चला है। कि खाना बनाते वक्त गैस के सिलेंडर में आग लग गई थी। और उसी आग के कारण गैस का सिलेंडर फटा है। जिसके बाद यह दोनों फ्लैट गिरे हैं ।उन्होंने बताया कि इस हादसे में वाजिद उनकी पत्नी रजिया और बेटा ओवेश की हालत गंभीर है। जिन्हें जीटीवी अस्पताल में भेजा गया है । और अभी मौके से मलबा हटाया जा रहा है ।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it