Top
Begin typing your search...

गाज़ियाबाद में लाशों के कारण लम्बा जाम, मुख्य आरोपी पर रखा 25 हजार का इनाम

गाज़ियाबाद में लाशों के कारण लम्बा जाम, मुख्य आरोपी पर रखा 25 हजार का इनाम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजियाबाद​ ​। मुरादनगर के उखरालसी शमशान में रविवार को गलियारे का लेंटर गिरने के हादसे में मारे गए दो लोगों के शवों को दिल्ली-मेरठ राजमार्ग पर रखकर पीड़ितों ने सोमवार सुबह से जाम लगा दिया। जाम और नारेबाजी की सूचना मिलने पर प्रशासन में हड़कंप मच गया और उच्च अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। पीड़ितों के साथ इलाके के काफी लोग एकत्र हैं। मौके पर पहुंचे अधिकारी जाम लगाने वालों को समझाने का प्रयास कर रहे हैं।

उधर जिला प्रसाशन ने तीन आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है जबकि मुख्य आरोपी ठेकेदार अजय त्यागी पर अब पुलिस ने पच्चीस हजार का इनाम रख दिया। अब जिला पुलिस लगातार आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है।

पीड़ितों ने बताया कि हादसे में मारे गए प्रदीप और सुनील चाचा भतीजे थे। सुनील के दो छोटे बच्चे हैं। परिवार वालों का कहना है कि अब इनकी देखभाल कौन करेगा। इसी बात से नाराज लोगों ने दोनों शवों के साथ गाजियाबाद से मेरठ जाने वाले रास्ते को बंद कर दिया है। पुलिस प्रशासन मौके पर मौजूद है लेकिन परिवार लाशें उठाकर अंतिम संस्कार करने को तैयार नहीं है। इससे हाईवे पर लंबा जाम लग गया है। समाचार लिखे जाने तक प्रशासन व पुलिस के अधिकारी लोगों को समझने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन वे मानने को तैयार नहीं हैं।

इससे पहले सोमवार को पुलिस ने लापरवाही और भ्रष्टाचार के आरोप में एफआईआर दर्ज करके मुरादनगर नगर पालिका परिषद की अधिशासी अधिकारी निहारिका सिंह, सहायक इंजीनियर सीपी सिंह व सुपरवाइजर आशीष को गिरफ्तार कर लिया है। इस गलियारे का निर्माण करने वाला ठेकेदार अजय त्यागी फरार हो गया है।गाजियाबाद पुलिस ने इन चारों समेत कुछ अन्य लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गाजियाबाद प्रशासन से इस हादसे की पूरी रिपोर्ट मांगी है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it