Top
Begin typing your search...

गाजियाबाद पुलिस की बड़ी कार्यवाही, एक साल पहले नन्दग्राम सीवर में 5मजदूरों की मौत के मामले में आरोपी किया गिरफ्तार

गाजियाबाद एसएसपी ने एक साल पहले हुई घटना को पुनः जांच कराकर आरोपी को जेल भिजवाया.

गाजियाबाद पुलिस की बड़ी कार्यवाही, एक साल पहले नन्दग्राम सीवर में 5मजदूरों की मौत के मामले में आरोपी किया गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजियाबाद में 22 अगस्त 2019 को थाना सिहानी गेट क्षेत्र में सद्दीकनगर नंदग्राम में सीवर में सफाई कार्य करते हुए 5 मजदूरों की मौत हो गई थी. इसके संबंध में थाना सिहानी गेट पर एक अभियोग 1300/19 पंजीकृत कराया गया था, जिसकी जांच चल रही थी.

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने उक्त केस को जल्द से जल्द पैरवी करवाकर घटना के आरोपी को गिरफ्तार जेल भिजवाया. इस केस में तब बड़ी उलझन बनी थी जब सीवर साफ़ करते समय यकायक पांच मजदूरों की मौत हुई थी क्योंकि तब ही दिल्ली में भी सफाई करते समय कुछ मजदूर मौत के मुंह में समा गये थे.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार उपरोक्त मामले में पूर्व में की गई विवेचना को एसपीआरए को स्थानांतरित किया गया था. उचित निर्देशन के बाद अंतिम चरण में विवेचना सीओ सिटी सेकंड के पास आई थी. जिनको विधिक राय प्राप्त करने के लिए एसएसपी गाजियाबाद द्वारा आदेश किया गया था. विधिक राय के क्रम में धारा 304 ए की जगह 304 का होना पाया गया.

उपरोक्त का संज्ञान लेते हुए एसएसपी ने अंतर्गत धारा 304 ए IPC किता की गई चार्जशीट को निरस्त करते हुए विवेचनात्मक कार्यवाही जारी रखने को आदेश जारी किया. जिसके क्रम में आज क्षेत्राधिकारी द्वितीय द्वारा बतौर विवेचक अभियुक्त लक्ष्मण सिंह पुत्र विजय सिंह उम्र 25 वर्ष निवासी गोटरा थाना फतेहपुर सीकरी, आगरा जोकि ई एम एम इन्फ़्राकॉम प्राइवेट लिमिटेड का इंजीनियर / साईट प्रभारी बताया गया था तथा जिसकी जिम्मेदारी उक्त कार्य को अपनी देखरेख में पूर्ण कराने की थी को हिरासत में लिया गया है.

एसएसपी द्वारा क्षेत्राधिकारी द्वितीय को विधिक राय के क्रम में विधिपूर्ण तरीके से विवेचना का सफल निस्तारण करने के लिए कहा है, वहीं पर्यवेक्षण अधिकारी एसपी सिटी को भी उचित पर्यवेक्षण के लिए आदेश किया है. ताकि आरोपी को सख्त से सख्त सजा हो और लापरवाही आगे से इस तरह न की जाय जिससे मजदूरों की जान जोखिम में पड़े.



Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it