Top
Begin typing your search...

गाजियाबाद में अवैध रूप से संचालित पटाखे फैक्ट्रियों पर छापेमारी, करोड़ों की बारूद बरामद

गाजियाबाद में अवैध रूप से संचालित पटाखे फैक्ट्रियों पर छापेमारी, करोड़ों की बारूद बरामद
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजियाबाद : रविवार को मोदीनगर इलाके स्थित बखरवा गांव में हुये ज्वलनशील मोमबत्ती बनाने की फैक्ट्री में विस्फोटक होने से 11 लोगों मौत हो गई थी। उस हादसे के बाद मामले की गंभीरता को समझते हुए जिला पुलिस-प्रशासन बेहद सतर्क हो गया है।

एएसपी केशव कुमार और एसडीएम खालिद अंजुम ने मंगलवार शाम को थाना टीला मोड़ स्थित फारुखनगर इलाके में अवैध रूप से संचालित लगभग 50 गोदाम सहित घरों में छापेमारी की है। छापेमारी के दौरान अधिकारियों ने कई घरों से पटाखा बनाने की सामग्री बरामद की है। अधिकारियों द्वारा बरामद की गई सामग्रियों की रकम लगभग एक करोड़ के आसपास आंकी जा रही है।


फारूक नगर में अवैध रूप से संचालित फैक्ट्रियों में छापेमारी के दौरान 2 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है। इन दोनों युवकों पर अपने घर में अवैध रूप से पटाखे बनाने का आरोप है। छापेमारी के दौरान सबसे ज्यादा पटाखे/बारूद की सामग्री शहीदुद्दीन और इसरार नामक व्यक्ति के घर से बरामद की गई है। शहीदुद्दीन और इसरार दोनों भाई बताए जा रहे हैं।

रविवार 5 जुलाई को थाना मोदी नगर इलाके में ज्वलनशील मोमबत्ती बनाने वाली फैक्ट्री में 11 लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में थाना टीला मोड़ पुलिस ने फैक्ट्री के संचालक नितिन चौधरी को गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही पुलिस ने नितिन चौधरी के सहयोगी सलीम को भी हिरासत में लिया है। हिरासत में पूछताछ के दौरान सलीम ने पुलिस को बताया कि वह नितिन चौधरी के साथ पार्टनरशिप में काम करता था। सलीम फैक्ट्री में मोमबत्ती सप्लाई किया करता था।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it