Top
Begin typing your search...

किशोरी का अपहरण, आधा हकीकत, आधा फसाना !

किशोरी का अपहरण, आधा हकीकत, आधा फसाना !
X
सांकेतिक तस्वीर
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजियाबाद जनपद में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है जहाँ एक लड़की को नारी निकेतन से कोर्ट में जाकर बयान कराने के बाद रास्ते से अपहरण कर लिया जाता है. इस पर सवालिया निशान बना हुआ है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक लड़का और लड़की पहले घर से भाग चुके हैं. प्रेम प्रसंग का मामला बताया जा रहा है. जिसके विरुद्ध एक मुकदमा पंजीकृत कुछ महीने पहले कराया गया था.

अब जिसमे लड़का लड़की बरामद होते हैं और लड़की अपने घर वालों के साथ जाने से साफ इंकार कर देती है. उसके बाद लड़की को शहीद नगर स्थित नारी निकेतन भेज दिया जाता है.जिस की पेशी है हेतु विगत दिवस कोर्ट में इस युवती को कानूनी प्रक्रिया के अनुसार लाया जाता है और लौटने के दौरान टैंपू में सवार होकर वार्डन के साथ लड़की लौट रही होती है.उसी दौरान उसके कथित प्रेमी और उसके तीन लोगो ने उसका कथित अपहरण कर उसे लेकर चले जाते है.

जाहिर सी बात है कि जब इतना हुआ है तो वहां पुलिस को कॉल करके वार्डन द्वारा बुलाया भी गया होगा और वहां टेम्पु वाले के अलावा और भी लोग चश्मदीद गवाह मौके पर मौजूद रहे होंगे. जबकि यहां वार्डन सीधा थाने जाकर शिकायत दर्ज कराती है. जबकि सूत्र ये इशारा कर रहे है कि उसी टेंपो में मिल जाता है और वह गुपचुप तरीके से उसके साथ चली जाती है. चलिए ये तो जांच का विषय है.

इस मामले में वार्डन द्वारा संबंधित थाने में एक अभियोग अपहरण का पंजीकृत कराया गया है. एक नामजद उसके कथित प्रेमी के अलावा तीन लोग अज्ञात में है. अब बड़ा सवाल यह उठता है की एक नामजद है उसका नाम यह वार्डन कैसे जानती हैं. जबकि वही तीन अज्ञात के नाम से तहरीर दी गई है.

अपहरण का मामला दर्ज कराया गया, यह भी एक कानूनी प्रक्रिया है, लेकिन बड़ा सवाल यह उठता है की लड़की जिसके साथ चली गई या भागा ली जाई गई उसको इतनी जानकारी मिली कैसे.अपहरण हुआ या सच्चाई कुछ और ही है. सवाल कई है लेकिन यह सब जांच का विषय है.....

अशोक गुप्ता

Special Coverage News
Next Story
Share it