Top
Begin typing your search...

गाजियाबाद : ट्रैफिक इंस्पेक्टर के नाम पर ट्रक वालों से अवैध वसूली करने वाला गैंग गिरफ्तार, थाना मसूरी थानाध्यक्ष नरेश सिंह निलंबित

गाजियाबाद में एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बड़ी कार्यवाही की है.

गाजियाबाद : ट्रैफिक इंस्पेक्टर के नाम पर ट्रक वालों से अवैध वसूली करने वाला गैंग गिरफ्तार, थाना मसूरी थानाध्यक्ष नरेश सिंह निलंबित
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजियाबाद : दिल्ली से सटे जनपद गाजियाबाद में एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बड़ी कार्यवाही करते हुए मसूरी थाना प्रभारी नरेश कुमार सिंह को अपने कर्तव्यों में शिथिलता व पर्यवेक्षण में लापरवाही बरतने का आरोप में निलंबित किया गया है। उनकी जगह उमेश पंवार को सर्विलांस सेल से प्रभारी निरीक्षक थाना मसूरी के पद पर नियुक्त किया गया है। दरअसल, मसूरी थाना क्षेत्र में ट्रैफिक इंस्पेक्टर के नाम पर ट्रक वालों से अवैध वसूली की जा रही थी। यातायात निरीक्षक परमहंस तिवारी को जनता के व्यक्ति ने इस बारे में सूचना दी थी। जिसके बाद एसएसपी ने पने कर्तव्यों में शिथिलता व पर्यवेक्षण में लापरवाही बरतने का आरोप में थाना प्रभारी नरेश कुमार सिंह को निलंबित कर दिया।

मामले की जांच एसएसपी कलानिधि नैथानी द्वारा नवागत सीओ अवनीश कुमार को सौंपी गई। एसएसआई मसूरी की टीम द्वारा इस गैंग गिरफ्तारी हुई। विवेचना अतिरिक्त थाना प्रभारी को सौंपी गई है

क्षेत्राधिकारी अवनीश द्वारा क्षेत्र में भ्रमण कर मामले की जानकारी प्राप्त की गई। मामले में एसएसपी के स्पष्ट आदेशों के बावजूद मुख्य सड़क पर सादे वस्त्रों में वसूली करते व्यक्तियों के पकड़े जाने और संबंधित थाना द्वारा अनभिज्ञता प्रकट करने के फलस्वरूप अराजकता के चलते, थाना प्रभारी जैसे महत्वपूर्ण पद पर नियुक्त रहते हुए इनके क्षेत्र में अभियुक्तों द्वारा सक्रियता से वाहनों से अवैध धन उगाही करना, अपने कर्तव्यों में शिथिलता व पर्यवेक्षण में लापरवाही बरतने का आरोप में थाना प्रभारी नरेश कुमार सिंह को निलंबित कर दिया गया।

सीओ ने अपनी जांच में आसपास जानकारी करने पर पाया कि थाना में इस तरह की अपराधिक घटना कई महीनों से हो रही थी। उक्त प्रकरण की जांच पुलिस अधीक्षक ग्रामीण को सौंपी गई है। एसएसपी द्वारा सभी क्षेत्राधिकारी/ थाना प्रभारी को निर्देशित किया गया है कि यदि किसी भी क्षेत्र में इस प्रकार का संगठित अपराध पाया जाता है तो संबंधित प्रभारी के विरुद्ध आवश्यक वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

प्रकरण का विवरण:-

पुलिस द्वारा अवैध उगाही करते पकङे गये तीनों व्यक्तियों की जामातलाशी ली गई तो तीनों व्यक्तियों के पास से दो पुलिस बैल्ट , दो बैरेट कैप, एक मोटरसाइकिल अपाचे,उगाही किये गये करीब ₹6200/- बरामद हुए । पुलिस टीम द्वारा उक्त पकङे गये लोगों से पूछताछ की गई तो बताए उक्त तीनों में से शहजाद को यातायात निरीक्षक व अन्य दोनों खुद को यातायात पुलिसकर्मी बताकर रोड पर आने जाने वाले वाहनों से धमकी देकर अवैध उगाही जबरन वसूली करते हैं।

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it