Top
Begin typing your search...

मशीनों को बदलने की खबर सुनकर मौके पर पहुचें अफजाल अंसारी, पुलिस से हुई झडप धरने पर बैठे देखिये पूरा वीडियो

मशीनों को बदलने की खबर सुनकर मौके पर पहुचें अफजाल अंसारी, पुलिस से हुई झडप धरने पर बैठे देखिये पूरा वीडियो
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print


चुनाव के बाद ईवीएम की सुरक्षा को लेकर जिच शुरू हो गई है। गठबंधन प्रत्याशी अफजाल अंसारी ने मंडी में बने स्ट्रांग रूम के सभी प्वाइंट पर निगरानी के लिए अपने लोगों की मौजूदगी की मांग करते हुए बाहरी जनपदों से ईवीएम आने की आशंका जताई। जिलाधिकारी ने तीन लोगों को मंडी परिसर में रहने की बात कही लेकिन अफजाल नौ लोगों पर अड़े रहे। इसे लकेर देर रात तक हाईवोल्टेड हंगामा चलता रहा और सैकड़ों समर्थक जुटे रहे। गाजीपुर लोकसभा सीट पर बसपा प्रत्याशी अफजाल अंसारी अौर केंद्रीय मंत्री भाजपा प्रत्याशी मनोज सिन्हा के बीच मुख्य़ मुकाबला है।




ईवीएम जमा होने के बाद विपक्षी दलों ने प्रशासन पर पक्षपात का आरोप लगाकर विरोध जताया। गठबंधन प्रत्याशी अफजाल अंसारी ने जिलाधिकारी को प्रार्थनापत्र देकर ईवीएम स्ट्रांग रूम के बाहर हर प्वाइंट पर अपने तीन लोगों की तैनाती की अनुमति मांगी। जिलाधिकारी ने इस पर एक प्वाइंट पर एक व्यक्ति की मौजूदगी की बात कही। देर शाम अफजाल अंसारी समर्थकों के साथ जंगीपुर स्थित स्ट्रांग रूम पहुंचे और मंडी के बाहर धरने पर बैठ गए। उनके समर्थन में सुभासपा के विधायक त्रिवेणी राम भी मौके पर पहुंच गए।



जब यह खबर फैली कि गाजीपुर के जंगीपुर में रखी गयी ईवीएम को बदला जा रहा है मौके पर ईवीएम भरी गाड़ी पकड़ी गयी है, सूचना मिलने के बाद गाजीपुर गठबंधन के प्रत्याशी पूर्व सांसद अफजाल अंसारी पहुंच चुके है पुलिस वाले अधिकारी गठबंधन के प्रत्याशी को अंदर नही जाने दे रहे।

अफजाल की एसओ जंगीपुर से नोकझोंक हुई तो उन्होंने डीएम से शिकायत दर्ज कराई। पुलिस और प्रशासन पर पक्षपात और अभद्र व्यवहार का आरोप लगाते हुए ईवीएम की निगरानी की बात कही। धरने और हंगामे की सूचना पर सीओ सिटी और एसडीएम सदर भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने निर्वाचन आयोग की गाइड लाइन और कानून व्यवस्था की बात कही तो अफजाल अंसारी ने हर प्वाइंट पर तीन लोगों की तैनाती की बात कही। इस दौरान जिले भर से अफजाल अंसारी के समर्थक धरने में जुटने लगे, वहीं सुरक्षा के मद्देनजर फोर्स भी मंगाया गया।

जिला निर्वाचन अधिकारी के बालाजी ने बताया कि नियमानुसार निगरानी के लिए तीन लोगों की अनुमति दी जा रही है और अफजाल अंसारी 9 लोगों को निगरानी में रखना चाहते हैं। 14 प्रत्याशियों के आधार पर बड़ी संख्या हो जाएगी और स्ट्रांग रूम की सुरक्षा को खतरा होगा। हमारी बात चल रही है और सकारात्मक परिणाम मिलेगा।



Special Coverage News
Next Story
Share it