Top
Begin typing your search...

Ghazipur: मुख्तार अंसारी के होटल गजल पर चला बुलडोजर.

Ghazipur: मुख्तार अंसारी के होटल गजल पर चला बुलडोजर.
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजीपुर: पूर्वांचल के माफिया के नाम से जाने जाने वाले मऊ विधायक मुख़्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही है. माफिया डॉन और बाहुबली विधायक मुख़्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) के खिलाफ योगी सरकार (Yogi Government) का एक्शन जारी है. जहाँ उन्होंने गाजीपुर स्तिथ होटल गजल (Hotel Ghazal) के ध्वस्तीकरण को लेकर हाईकोर्ट में लगाई गुहार को ख़ारिज करते हुए जिलाधिकारी के पास भेज दिया था. कोर्ट ने कहा कि जिलाधिकारी के निर्देशन में एक कमेटी का गठन करके होटल के वैध और अवैध का निर्णय लिया जाय और फिर अग्रिम कार्यवाही की जाय.

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित समिति ने होटल को अवैध ठहराते हुए ध्वस्तीकरण की प्रक्रिया को मंजूरी दे दी जिसके तहत आज जिला प्रसाशन के बुलडोजर होटल गजल पर चला. देखते ही देखते मुख़्तार अंसारी के सपनों का होटल गजल चकनाचूर हो गया.

एंटी-भूमाफिया ऑपरेशन के तहत रविवार सुबह मुख़्तार अंसारी के आलीशान होटल गजल (Hotel Ghazal) को जेसीबी मशीनों की सहायता से जमींदोज कर दिया गया. यह होटल मुख़्तार अंसारी की पत्नी और बेटे का नाम थी. गाजीपुर जिला प्रशासन का आरोप है कि अवैध तरीके से गलत नक्शे के तहत इस होटल का निर्माण करवाया गया था.



गौरतलब है कि 8 अक्टूबर को एसडीएम गाजीपुर ने होटल के ध्वस्तीकरण को लेकर नोत्ची जारी किया था. इस नोटिस के खिलाफ मुख़्तार अंसारी का परिवार हाईकोर्ट पहुंचा था. लेकिन हाईकोर्ट से भी कोई राहत नहीं मिली. हाईकोर्ट ने डीएम के समक्ष अपील करने का निर्देश दिया था. इसके बाद याचिकाकर्ता ने डीएम के समक्ष अपील की थी. शनिवार देर शाम डीएम की अध्यक्षता वाली बोर्ड ने अपील को ख़ारिज कर दिया. जिसके बाद रविवार सुबह जेसीबी मशीनों के साथ होटल गजल पहुंचा और धव्स्तीकरण की कार्रवाई शुरू की.

अभी तक मुख़्तार अंसारी के परिवार, करीबी रिश्तेदार और गुर्गों के खिलाफ वाराणसी, मऊ, जौनपुर, गाजीपुर और वाराणसी में ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी है. अवैध तरीके से कब्जाई जमीनों की कुर्की से लेकर शस्त्र लाइसेंस तक निरस्त किए गए हैं. इतना ही नहीं जिल प्रशासन ने मुख़्तार अंसारी गैंग को आर्थिक चोट पहुंचाने के लिए उसके गुर्गों के अवैध कारोबार पर भी अंकुश लगाया है.

कड़ी सुरक्षा के बीच रविवार की सुबह जिला प्रशासन मौके पर पहुंचा और ध्वस्तीकरण की कार्रवाई शुरू की

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it