Top
Begin typing your search...

UP : BJP विधायक के भाई को पुलिस ने पीटा, गुस्‍से में भाजपाई और समर्थक, SSP ने दिए जांच के आदेश

विधायक के भाई के साथ हुए दुर्व्यवहार की जानकारी पाकर बड़ी संख्या में उनके समर्थक एसएसपी आवास पर पहुंच गए। समर्थक घटना को लेकर आक्रोशित थे।

UP : BJP विधायक के भाई को पुलिस ने पीटा, गुस्‍से में भाजपाई और समर्थक, SSP ने दिए जांच के आदेश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर के शाहपुर क्षेत्र स्थित मेडिकल कॉलेज रोड पर एचएन सिंह चौराहे के पास सोमवार की शाम को कार से स्कूटी में ठोकर लगने के मामले को लेकर हुई मामूली कहासुनी के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने विधायक महेंद्र पाल सिंह के भाई रमाशंकर सिंह और उनके एक मित्र राहुल को बेरहमी से पीट दिया। इस मामले की शिकायत विधायक और भाजपा नेताओं ने एसएसपी से उनके आवास पर मिलकर की। एसएसपी ने मामले की जांच कराने का आश्वासन दिया। उन्होंने मामले की जांच सीओ को सौंप दी है।

जानकारी के अनुसार गुलरिहा क्षेत्र स्थित जमुनारा महराजगंज निवासी व पिपराइच से भाजपा विधायक महेंद्र पाल सिंह के भाई रमाशंकर सिंह की कार शाहपुर क्षेत्र स्थित बशारतपुर निवासी राहुल ने मांगी थी। वह कार से अपने किसी परिचित को छोड़ने गया था। परिचित को छोड़ने के बाद वह कार लेकर लौट रहा था। एचएन सिंह चौराहे के पास कार से एक स्कूटी पर ठोकर लग गई। स्कूटी एक किशोर चला रहा था।

किशोर की राहुल से कहासुनी हो गई। किशोर ने फोन कर अपनी परिचित एक किशोरी को बुला लिया। किशोरी ने फोन कर पुलिस कर्मियों को सूचना दे दी। किशोरी की सूचना पर एक दरोगा और दो सिपाही मौके पर पहुंच गए और उन्होंने राहुल को पीटना शुरू कर दिया। इस बीच राहुल ने भी फोन कर विधायक महेंद्र पाल सिंह के भाई रमाशंकर सिंह को घटना की जानकारी दे दी। रमाशंकर सिंह भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने पुलिस कर्मियों को राहुल को पीटने से रोका तो वे उनसे भी भिड़ गए।

पुलिस कर्मियों ने राहुल और रमाशंकर सिंह को उनकी ही कार में बैठा लिया और शाहपुर थाने पर लेकर चले गए। आरोप है कि रास्ते में कार में भी पुलिस कर्मियों ने राहुल को पीटा। थाने पर ले जाने के बाद दोनों को पुलिसकर्मी एक कमरे में ले गए। इस बीच एक सिपाही ने थाने पर मौजूद इंस्पेक्टर को घटना की जानकारी दी।

इंस्पेक्टर बाहर निकलते, इससे पहले ही पुलिसकर्मी कमरे में घुस गए और रमाशंकर और राहुल को पीटना शुरू कर दिया। थानेदार बाहर निकले तो उन्होंने दोनों को बाहर बुलवाया और सिपाहियों को डांटा। रमाशंकर के साथ घटी घटना की जानकारी उनके भाई विधायक महेंद्र पाल सिंह को हो गई। वह तत्काल एसएसपी कार्यालय पर पहुंच गए। उनके साथ भाजपा के कई नेता भी पहुंच गए। एसएसपी ने विधायक की बात सुनी और दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया।

भाजपा के कई नेता पहुंचे एसएसपी आवास

विधायक महेंद्र पाल सिंह के एसएसपी आवास पहुंचने की सूचना पाकर भाजपा जिलाध्यक्ष युधिष्ठिर सिंह, महानगर अध्यक्ष राजेश गुप्ता अपने समर्थकों के साथ वहां पहुंच गए। कुछ देर बाद क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ. धर्मेंद्र सिंह भी मौके पर पहुंचे। भाजपा के इन नेताओं ने एसएसपी से बातचीत की और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा।

एसएसपी आवास पर पहुंचे विधायक समर्थक

विधायक के भाई के साथ हुए दुर्व्यवहार की जानकारी पाकर बड़ी संख्या में उनके समर्थक एसएसपी आवास पर पहुंच गए। समर्थक घटना को लेकर आक्रोशित थे। उनका कहना था कि रमाशंकर सिंह काफी सरल स्वभाव के हैं। उनके साथ पुलिस ने ज्यादती की है। दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

विधायक के भाई ने दिया एसएसपी को प्रार्थना पत्र

विधायक महेंद्र पाल सिंह के भाई रमाशंकर सिंह ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र दिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि गाड़ी टक्कर होने के बाद पहुंचे दरोगा रवि प्रकाश यादव और उनके सहयोगी पुलिस कर्मियों ने उन्हें भला बुरा कहा। राहुल के साथ मारपीट की। ऐतराज करने पर एसआई रवि प्रकाया यादव और कांस्टेबल मुझे और राहुल को शाहपुर थाने पर ले गए। वहां भी उन्होंने गालियां दी। दरोगा रवि प्रकाश यादव, दरोगा छोटेलाल तथा कांस्टेबल अनिल यादव व दो अन्य कांस्टेबलों ने मारपीट शुरू कर दी। इसी दौरान सिपाहियों ने थानेदार सुधीर सिंह से बात की तो उन्होंने भी गालियां देकर मारने को कहा। रमाशंकर सिंह ने मामले की जांच कराने औरअपना चिकित्सकीय परीक्षण कराकर मुकदमा दर्ज कराने की गुजारिश की है।

घटना की जानकारी हुई है। मामले की जांच सीओ गोरखनाथ को सौंपी गई है। जांच रिपोर्ट आने के बाद जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

जोगेंद्र कुमार, एसएसपी

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it