Top
Begin typing your search...

गोरखपुर में दिनदहाड़े महराजगंज के व्यापारी को मारी गोली, हालत गंभीर

प्रशांत अपने छोटे भाई विपिन जायसवाल के साथ किसी काम से गोरखपुर जिले में आए थे। वह कार से भाई के साथ नौतनवा लौट रहे थे। मानीराम के पास वह रुक कर वह क्रासिंग खुलने का इंतजार कर रहा था

गोरखपुर में दिनदहाड़े महराजगंज के व्यापारी को मारी गोली, हालत गंभीर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर,। मानीराम रेलवे क्रासिंग के पास बाइक सवार चार बदमाशों ने महराजगंज जिले के नौतनवा सरोजनीनगर निवासी 30 वर्षीय प्रशांत जायसवाल को नौतनवा के ही बाइक सवार चार युवकों ने गोली मार दी है। गोली प्रशांत के सीने में नीचे पेट में बाई तरफ लगी है। उसका मेडिकल कालेज में उपचार के बाद लखनऊ रेफर कर दिया गया है। उसकी स्थिति गंभीर बताई गई है। घायल की नौतनवा में होजरी की दुकान है। डीआईजी राजेश डी मोदक, एसएसपी जोगेंद्र कुमार, एसपी उत्तरी अरविंद ने भी घटनास्थल का निरीक्षण मामले की जानकारी ली है।

जानकारी के मुताबिक गुरुवार दोपहर करीब प्रशांत अपने छोटे भाई विपिन जायसवाल के साथ किसी काम से गोरखपुर जिले में आए थे। दोपहर करीब दो बजे वह कार से भाई के साथ नौतनवा लौट रहे थे। मानीराम के पास वह रुक कर वह क्रासिंग खुलने का इंतजार कर रहे थे। इस दौरान प्रशांत एक दुकान पर पान मसाला लेने चला गया। वहां एक व्यक्ति ने किसी बात को लेकर उसके साथ विवाद करने लगा। बिपिन के मुताबिक उसी दौरान नौतनवा के चार व्यक्ति उसकी दुकान पर पहुंच गए और किसी बात को लेकर उससे तकरार करने लगे। बिपिन के मुताबिक जब तक वह कुछ समझ पाता नौतनवा के गोलू नाम के एक व्यक्ति ने उसे पेट में सटाकर गोली मार दी। गोली लगते ही प्रशांत नीचे गिर गया और छटपटाने लगा।

असलहा लहराते हुए निकले बदमाश

घटना के बाद गोली मारने वाला व्यक्ति असलहा लहराते हुए रेलवे क्रासिंग बैरियर के नीचे अपनी बाइक झुकाकर सिक्टौर बालापार रोड की तरफ निकल गया। उसके दो अन्य साथी बाइक से गोरखपुर की तरफ भाग निकले।

बड़े भाई को गोली लगते ही मौके से भागा छोटा भाई

घटनास्थल पर मौजूद लोगों के मुताबिक प्रशांत को गोली लगने घटनास्थल पर अफरा-तफरी की स्थिति मच गई। लोग घबराकर इधर-उधर भागने लगे। यहां तक कि उनका छोटा भाई वहां से भाग निकला। उसने बताया कि वह गोली लगने से डर गया था। बाद में वह मेडिकल कालेज पहुंचा।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it