Top
Begin typing your search...

UP : ट्यूशन पढ़ाने वाली टीचर ने गर्म तेल से बच्‍ची का हाथ जलाया, मुकदमा दर्ज

घटना की जानकारी होने पर मासूम बच्ची के अभिभावक ने पुलिस को सूचना दी जिसके बाद आरोपी पर केस दर्ज कर लिया गया है.

UP : ट्यूशन पढ़ाने वाली टीचर ने गर्म तेल से बच्‍ची का हाथ जलाया, मुकदमा दर्ज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर : ट्यूशन पढ़ाने वाली एक टीचर का क्रूर चेहरा सामने आया है. टीचर ने गोरखपुर में होमवर्क पूरा नहीं होने पर एक मासूम बच्ची को जलाने का मामला सामने आया है. आरोप है कि ट्यूशन पढ़ाने वाली शिक्षिका ने गर्म सरसों के तेल से बच्ची का हाथ जला दिया. इस दौरान गर्म तेल के छींटों से बच्ची के चेहरा भी झुलस गया. खास बात यह है कि बच्‍ची के साथ क्रूर बर्ताव करने वाली टीचर भी नाबालिग ही है. आरोपी ट्यूशन टीचर खुद ही हाईस्कूल की छात्रा है. घटना की जानकारी होने पर मासूम बच्ची के अभिभावक ने पुलिस को सूचना दी जिसके बाद आरोपी पर केस दर्ज कर लिया गया है.

जानकारी के मुताबिक, यह मामला कोतवाली थाना के मियां बाजार इलाके का है. यहां मोहल्ले के एक शख्‍स की 7 साल की बच्ची अपने ही पड़ोस की किशोरी से ट्यूशन पढ़ा करती है. बच्ची के परिजनों का आरोप है कि होमवर्क पूरा न करने पर ट्यूशन टीचर ने सरसों के तेल से उनकी बच्ची का हाथ जला दिया. बच्ची की मां की तहरीर पर पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

इस मामले में सीओ (कोतवाली) वीपी सिंह ने बताया है कि पीड़ित बच्ची के परिजनों का कहना है कि होमवर्क पूरा न होने पर ट्यूशन पढ़ाने वाली टीचर ने गर्म सरसों का तेल उसके हाथ पर डालकर जला दिया. इस दौरान तेल का छींटा बच्ची के चेहरे पर भी पड़ा है, जिसकी वजह से उसका चेहरा भी झुलस गया है. घटना के बाद जब बच्ची घर आई तो उसने अपनी मां को इस बात की जानकारी दी. इससे नाराज पीड़ित बच्ची की मां ने कोतवाली पुलिस को लिखित तहरीर देकर आरोपी शिक्षिका पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है.

सीओ कोतवाली का कहना है कि तहरीर के आधार पर ही पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है. फिलहाल पूरे प्रकरण की जांच की जा रही है. सीओ के मुताबिक आरोपी शिक्षिका भी अभी नाबालिग है. ऐसे में देखा जा रहा है कि क्या शिक्षिका ने जानबूझकर ऐसा किया है या गलती से बच्ची जल गयी है. गौरतलब है कि कोरोना काल की वजह से छोटे बच्चों के स्कूल बंद चल रहे हैं, ऐसे में हर अभिवाहक अपने बच्चों को बेहतर शिक्षा देने के मकसद से ट्यूशन का सहारा ले रहा है.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it