Top
Begin typing your search...

हरदोई में डीएम एसपी आमने सामने, डीएम ने दिया था दरोगा को सस्पेंड करने का आदेश, एस पी ने किया रद्द

हरदोई में डीएम एसपी आमने सामने, डीएम ने दिया था दरोगा को सस्पेंड करने का आदेश,                                      एस पी ने किया रद्द
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हरदोई रविवार की रात हरदोई जिले के डीएम पुलकित खरे ने एक चौकी इंचार्ज को सिर्फ इसलिए सस्पेंड कर दिया था क्योंकि उन्होंने सड़क पर गाय देख ली थी. मामला सामने आते ही पुलिस विभाग में हड़कम्प मच गया. न सिर्फ सोशल मीडिया पर पुलिसकर्मियों ने बल्कि पुलिस अफसरों ने भी इस निलम्बन को गलत ठहराया. जिसके बाद जिले के एसपी न सिर्फ इस निलम्बन को रद्द किया बल्कि खुद को हमेशा पुलिसकर्मियों के साथ खड़े होने की बात भी कही.

जिलाधिकारी ने किया था निलम्बन

जानकारी के मुताबिक, हरदोई जिलाधिकारी पुलकित खरे ने बेसहारा पशुओं को गोशालाओं में पहुंचाने के लिए खंड विकास अधिकारियों और नगर क्षेत्र में अधिशासी अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई थी. थानाध्यक्षों और चौकी प्रभारियों को उनकी मदद का आदेश दिया गया था. रविवार की देर शाम लखनऊ चुंगी के पास पशुओं का झुंठ बैठा मिला. इसमें मंडी चौकी प्रभारी की लापरवाही सामने आई. जिस पर मंडी चौकी प्रभारी संजय शर्मा को निलंबित कर दिया गया है.

एसपी ने दिया चौकी इंचार्ज का साथ

मामले के सामने आने के बाद पुलिसकर्मियों ने रात में एसपी से मिलकर शिकायत की थी. जिसके बाद सोमवार की सुबह ही हरदोई एसपी आलोक प्रियदर्शी ने खुद को जिले की पुलिस का मुखिया बताकर इस आदेश को रद्द कर दिया. एसपी ने साफ़ तौर पर अपने अधिनस्थों से कहा कि वो हमेशा उनके साथ खड़े हैं.

रिपोर्ट ओम त्रिवेदी

Special Coverage News
Next Story
Share it