Top
Begin typing your search...

हरदोई : चकबंदी में चको के नाप न होने से काश्तकारों में असमंजस

हरदोई : चकबंदी में चको के नाप न होने से काश्तकारों में असमंजस
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हरदोई: हरपालपुर के ग्राम नाऊपुरवा में ग्रामीणों के काफी प्रयास के बाद चकबंदी प्रक्रिया शुरू हुई थी. यहां आधे गांव में चकबंदी कर लोगों को खेत दे भी दिए गए. परंतु चकबंदी सहायक अधिकारी धर्मपुर (शकील अहमद) का बीच पैमाइश में ट्रांसफर हो गया. जिससे चकबंदी पैमाइश बाधित हो गई.

तब से किसान कई बार चकबंदी विभाग के चक्कर लगा चुके हैं. लेकिन अधिकारी उनकी सुनने को तैयार नहीं हैं. अब सवाल यह उठता है किसान को अभी यही नहीं मालूम कि उन्हें कौन सा चक मिलेगा तो अगली फसल कहां बोएंगे. यदि किसान फसल बोना भी चाहते हैं तो वहां आए दिन लड़ाई झगड़े भी होते हैं. चकबंदी विभाग की यह लापरवाही किसानों के आगे रोजी-रोटी की समस्या तो खड़ी कर ही रही है.

वहीं प्रदेश की योगी सरकार का किसानों का हितैषी होने का दावा भी इन अधिकारियों की लापरवाही के चलते खोखला साबित हो रहा है. क्योंकि तमाम ऐसे प्रवासी मजदूर भी अपने गांव आ चुके हैं जो गांव में ही खेती-बाड़ी कर गुजर-बसर करना चाहते हैं. पर इस क्षेत्र के किसानों को सोंचना पड़ रहा है कि आगे कैसे उनकी रोजी-रोटी व परिवार का भरण पोषण होगा.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it