Top
Begin typing your search...

जर्जर विद्युत व्यवस्था ने तोड़ा ग्रामीणों के धैर्य का बांध ,ऊर्जा मंत्री के त्योहारों पर निर्बाध विद्युत आपूर्ति के आदेश को भी किया अधिकारियों ने किया दरकिनार

जर्जर विद्युत व्यवस्था ने तोड़ा ग्रामीणों के धैर्य का बांध ,ऊर्जा मंत्री के त्योहारों पर निर्बाध विद्युत आपूर्ति के आदेश को भी किया अधिकारियों ने किया दरकिनार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हरदोई सांडी ब्लॉक के ग्राम म्योढा में पिछले एक महीने से जर्जर विद्युत तारों के चलते विद्युत आपूर्ति पूर्णतया बाधित है। जिसकी ग्राम प्रधान द्वारा लगातार उच्चाधिकारियों से शिकायत की गई। परंतु विद्युत विभाग के ढुलमुल रवैया के चलते एक माह से ग्रामीण अंधेरे और बिलबिलाती गर्मी में जीवन यापन करने को मजबूर है। साथ ही विद्यार्थियों की भी पढ़ाई बाधित हो रही है।

इतना ही नहीं कमजोर तारों के चलते आए दिन विद्युत लाइन टूट जाती है। जिससे किसी बड़ी अनहोनी से भी इनकार नहीं किया जा सकता। महीनों से शिकायत के बावजूद भी अधिकारियों की राह देख रहे ग्रामीणों का आज सब्र का बांध टूट गया और उन्होंने ग्राम प्रधान प्रसून अग्निहोत्री के साथ सांडी विद्युत उपकेंद्र पर जाकर अपना रोष नारेबाजी कर व्यक्त किया तथा प्रार्थना पत्र के माध्यम से अवर अभियंता को संबोधित किया है। यदि 3 दिन के अंदर उनकी समस्या का समाधान न हुआ व जर्जर तार ना बदले गए तो विद्युत उपकेंद्र पर तालाबंदी करने और आमरण अनशन करने को मजबूर होंगे साथ ही वे अपने विद्युत कनेक्शन कटवाने के लिए भी मजबूर हो जायेंगे।

हालांकि जब बिलग्राम एसडीओ से टेलीफोन वार्ता की गई तो उन्होंने जल्द से जल्द ग्रामीणों से मिलकर समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया है। अब देखने वाली बात यह होगी कि क्या यह कोरा आश्वासन ही साबित होगा या अपनी विवादित कार्यशैली को छोड़कर अधिकारी ग्रामीणों की समस्या का समाधान भी करेंगे।

रिपोर्ट ओम नारायण त्रिवेदी

Special Coverage News
Next Story
Share it