Home > आम आदमी पार्टी कन्नौज की पूरी जिला कार्यकारिणी ने दिया त्याग पत्र

आम आदमी पार्टी कन्नौज की पूरी जिला कार्यकारिणी ने दिया त्याग पत्र

पहले योगेंद्र यादव, प्रशान्त भूषण , इलियास आजमी,मयंक गाँधी , मेधा पाटेकर , शाजिया इल्मी के बाद अब कुमार विश्वास के साथ हो रहे व्यवहार से नाराज थे कार्यकर्ता

 शिव कुमार मिश्र |  2018-01-23 08:04:21.0  |  दिल्ली

आम आदमी पार्टी कन्नौज की पूरी जिला कार्यकारिणी ने दिया त्याग पत्र

रविवार को आम आदमी पार्टी के जिला अध्यक्ष गुड्डा ठाकुर ने जिले के कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाई पार्टी की वर्तमान स्थितियों पर चर्चा हुई और सभी कार्यकर्ता पार्टी की वर्तमान कार्यशैली से नाराज थे कार्यकर्ताओं ने बैठक में यह कहा कि पहले योगेंद्र यादव, प्रशान्त भूषण जैसे ईमानदार और जिम्मेदार लोगों को पार्टी से बिना किसी दोष के बाहर निकाला और आज कुमार विश्वास के साथ ऐसा करने का प्रयास कर रही है तो हम जैसे सामान्य लोगों के साथ कल ऐसा हो सकता है इसलिये इसका विरोध होना चाहिए। कार्यकर्ताओं ने सामुहिक रूप से कहा कि पार्टी अपनी मूल विचारधारा से पूरी तरह भटक गई है, राजनीति में जिस सुचिता की बात कही गयी थी आज पार्टी ठीक उसके उलट कार्य कर रही है।


जिला अध्यक्ष गुड्डा ठाकुर ने अपने संघर्ष के साथियों के बीच भावुक होते कहा कि 6 साल पहले जो सपना हमने देश की आने वाली पीढ़ी के लिए देखा था वह अब धुंधला होने लगा है। हमने राजनीति में परिवर्तन की बात आम आदमी शब्द से की थी और कहा गया था कि हम राजनीति में सादगी व सेवा की मिशाल पेश करेंगे पर हमें तकलीफ तब ज्यादा हुई जब अभी हाल में उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव में मदत के नाम पर दिल्ली से आये पार्षद ने हमसे कहा कि मेरे रुकने की व्यवस्था किसी अच्छे होटल में करवाओ, मैंने जबाब में कहा कि मैं जहाँ रहता हूँ जमीन पर सोता हूँ आप भी चलिए हमारे साथ वहीं रहिये उस पर वो लोग मदत करना छोड़िए नाराज होकर लखनऊ चले गए ।
ऐसा लगता है कि वो मदत कम पिकनिक मनाने ज्यादा आये थे। जबकि हम लोग दिल्ली में 2 बार के चुनाव में प्रचार को गए जमीन पर सोने को मिलता था और खाना भी अपनी जेब से खाते थे।
जिला अध्यक्ष गुड्डा ठाकुर ने कहा कि पूर्व ज़ोन संयोजक अविनाश त्रिपाठी जी की कार्यशैली ने हम लोगों को सालों बांधे रखा नाराज से नाराज व्यक्ति को साथ ले चलने की गजब की क्षमता था देश समाज,संगठन व कार्यकर्ताओं के प्रति समर्पित रहने की प्रेरणा दी अविनाश जी आंदोलन के साथी थे वो प्रदेश के कार्यकर्ताओं के मनोबल थे ।

पर विचारधारा में भटकाव व कुमार विश्वास के साथ हो रहे षड्यंत्रो के खिलाफ उन्होंने आवाज उठाई तो उन्हें भी मजबूरन षड्यंत्रो और राजनीतिक चालों से आहत होकर अपने पद से त्याग पत्र दे दिया ।
उत्तर प्रदेश में अविनाश जी के त्याग पत्र के बाद उसी समय अपने एक महत्वपूर्ण साथी को खोने से कार्यकर्ताओं में निराशा आ गयी और मनोबल गिर गया उनकी निःस्वार्थ मेहनत,त्याग समर्पण व विचारधारा के प्रति अभूतपूर्व लगाव से साथी आज भी आदर करते हैं पार्टी को ऐसे हीरों को खोने का कोई गम नहीं है ये बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है ।

जिला अध्यक्ष ने कहा कि आज प्रान्तीय कमेटी उन लोगों के हाथ में है जो जिले जिले में आन्दोलन व पार्टी विचारधारा के मजबूत हाथों को काटने की सुपारी ले लिए हैं अतः इस माहौल में काम करने के लिए दम घुट रहा अतः आज हम अपने पद से त्याग पत्र देते हैं और अरविन्द जी से विनती करते हैं कि आप जल्द दखल दीजिये अन्यथा आपके संघर्षों के साथी शाजिसन पूरे देश में खत्म कर दिए जाएंगे परिणाम स्वरूप आप खुद खत्म होने की राह पर खड़े हो जाएंगे।

जिला सचिव ओंकार यादव ने कहा कि अब जब तक अरविन्द जी , मनीष जी व कुमार जी साथ नहीं आएंगे हम भी पद को त्याग करते हैं और पार्टी में बने रहेंगे और उसकी मूल विचारधारा के लिए संघर्ष करते रहेंगे।

जिला सचिव ओंकार यादव ने प्रांतीय अध्यक्ष पर जोरदार हमला करते हुए कहा कि उनके अंदर नेतृत्व क्षमता नहीं है न ही उन्हें संगठन चलाने का अनुभव वो जिलों में गुटवाजी कराती है और जिले के संगठन को बाईपास करती हैं पूरा कन्नौज अनुभव हीन प्रांतीय संयोजिका वृजकुमारी का पुर जोर विरोध करता है।

जिला संगठन संयोजक शाजिद मंसूरी ने कहा कि आज हमें दुःख है जिस ईमानदार पार्टी से हम जुड़े थे उस पार्टी में ईमानदारी शब्द गौण हो गया है आज पार्टी अपने कार्यकर्ता,अपने मूल एजेंडे, अपने नेता व जनता के साथ छल कर रही है तो बहुत दुःख होता है कभी कभी लगता है कि अरविन्द जी धृतराष्ट्र बन गए हैं अब ऐसी स्थिति में काम करना मुश्किल है पूर्व प्रांतीय संयोजक अविनाश त्रिपाठी के त्यागपत्र के बाद करीब 21 में 8 जिले की कार्यकारिणी के साथी जिला अध्यक्ष निराश होकर पहले पद छोड़ चुके हैं बचे जिलों में कई साथी पद छोड़ चुके हैं।

जिला संगठन संयोजक ने कहा कि पार्टी ने कुमार विश्वास के साथ जो किया उस प्रकरण ने कार्यकर्ताओं को बहुत आहत किया एक कांग्रेस एक भाजपा से आये दो गुप्ता बंधुओं के राज्यसभा भेजने व डॉ कुमार विश्वास और आसुतोष जैसे पार्टी के साथी को न भेजने से देश भर में गलत संदेश गया है पार्टी के अनैतिकता फैसले से कन्नौज सहित पूरा यूपी सदमें में है।

अतः आज हम भी बड़े भारी मन से अपनी जिम्मेदारियों को छोड़ने की घोषणा कर रहे हैं। बैठक में सभी कार्यकर्ता भावुक हो गए और अपने नेता गुड्डा ठाकुर की आवाज में आवाज मिलाते हुए सभी ने ज़ोनल कमेटी की कार्यशैली व पार्टी के विचारधारा के भटकाव से आहत होकर सामुहिक ईस्तीफा दे दिया।




Tags:    
Share it
Top