Top
Begin typing your search...

गैंगस्टर विकास दुबे का तीसरा साथी प्रभात मिश्रा भी मारा गया

गैंगस्टर विकास दुबे का तीसरा साथी प्रभात मिश्रा भी मारा गया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर : विकास दुबे के अब तीन साथी पुलिस मुठभेड़ में मार गिराए गए है. जहां अमर दुबे को हमीरपुर पुलिस ने मार गिराया था तो रणवीर उर्फ़ बावन शुक्ल को इटावा पुलिस ने मार गिराया है जबकि प्रभात मिश्र को भौंती पुलिस ने मार गिराया है.

कानपुर कांड (Kanpur Shootout) में फरार चल रहे मोस्ट वांटेड विकास दुबे (Vikas Dubey) का एक और करीबी साथी प्रभात मिश्रा (Prabhat Mishra) उर्फ़ कार्तिकेय को एसटीएफ (STF) ने पनकी थाना क्षेत्र में हुए मुठभेड़ (Encounter) में मार गिराया. प्रभात मिश्रा विकरू गांव में पुलिस टीम पर गोलियां बरसाने में शामिल था.

बता दें प्रभात मिश्रा को बुधवार को ही फरीदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार किया था. उसके बाद उसे कोर्ट पेश कर के यूपी एसटीएफ को ट्रांजिट रिमांड पर लिया था. यूपी एसटीएफ उसे रिमांड पर कानपुर ला रही थी. पनकी थाना क्षेत्र में गाड़ी ख़राब हो गई. इस बीच प्रभात ने यूपी एसटीएफ के एक दरोगा की पिस्टल छिनकर भागने लगा. जब पुलिस ने उसे रोका तो फायरिंग शुरू कर दी. जिसके बाद हुई जवाबी फायरिंग में प्रभात मिश्रा मारा गया.

एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि लगभग 4:30 बजे बदमाशों को पुलिस द्वारा पीएस सिविल लाइन्स के तहत कचौरा रोड पर रोका गया. लेकिन बदमाश नहीं रुके और पुलिस पार फायर करते हुए भागने लगे. जब पुलिस ने उनका पीछा किया तो स्विफ्ट डिजायर कार एक पेड़ से टकरा गई. इसके बाद अपराधियों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी. उसके बाद पुलिस ने भी फायरिंग की जिसके बाद बदमाश भाग गए. पुलिस ने जब टकराई हुई गाडी के पास जाकर देखा तो एक अज्ञात अज्ञात व्यक्ति को कई चोटें लगीं थी. उसे अस्पताल ले जाने पर डॉ ने मृत घोषित कर दिया. गाडी से एक पिस्तौल, एक डबल बैरल बंदूक और कई कारतूस बरामद किए गए हैं. मृत अपराधी की पहचान कानपुर पुलिस ने प्रवीन उर्फ ​​बऊआ दुबे के रूप में की है. जिस पर कानपूर पुलिस का 50,000 का इनाम घोषित था. यह बऊआ दुबे विकास दुबे का साथी है और चौबेपुर थाना में इसके खिलाफ एफआईआर में दर्ज है. 3 अन्य बदमाश स्कॉर्पियो से भागने में सफल रहे. .

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it