Top
Begin typing your search...

आईपीएस सुरेंद्र् दास की आत्महत्या में नया मोड़, जांच पर हुए सवाल खड़े?

आईपीएस सुरेंद्र् दास की आत्महत्या में नया मोड़, जांच पर हुए सवाल खड़े?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: बुधवार को आईपीएस अधिकारी सुरेंद्र दास की आत्महत्या के मामले में अब एक और नया मोड़ आ गया है। इससे पहले जहाँ आईपीएस अधिकारी की आत्महत्या को लेकर पारिवारिक कलह को वजह बताया जा रहा है और उनकी पत्नी पर कई तरह के आरोप लगाए जा रहे हैं, वहीँ अब इस मामले को लेकर कानपुर के एक वरिष्ठ अधिवक्ता ने कोर्ट में मुकदमे की अर्जी दे दी है। इस अर्जी के बाद आत्महत्या का मामला कानपुर सीएमएम कोर्ट पहुंच गया है। सबसे खास बात ये कि इस मुकदमे की अर्जी में एसएसपी की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठाए गए हैं। जिसके बाद कयासे लगाई जा रही हैं कि मुकदमे में एसएसपी कानपुर पर भी गाज गिर सकती है।

कानपुर के 65 साल के वरिष्ठ अधिवक्ता प्रमोद सक्सेना ने इस मुकदमे की अर्जी सीएमएम कोर्ट में दी है। इसमें उन्होंने अज्ञात के खिलाफ के खिलाफ FIR दर्ज कर मामले की विस्तृत जांच करने की गुजारिश की है। उन्होंने इसके लिए सुसाइट नोट, माँ- भाई के अखबारों में छपे बयान को मुकदमे का आधार बताया है। बता दें कि मुकदमे की इस अर्जी पर कार्रवाई करते हुए कोर्ट पोषणीयता पर 22 सितंबर को फैसला दे सकती है।

इस मामले में कहा SSP पर भी गाज गिरने की संभावना है। याचिकाकर्ता ने मुकदमे की अर्जी में सवाल उठाया है कि एसएसपी ने बिना FIR कैसे SP क्राइम को मामले की जाँच सौंप दी है। बताया जा रहा है कि इस मामले के बाद SSP कानपुर भी मुशकिल में पड़ सकते हैं।

हालांकि इस मामले में एसएसपी ने जांच अपने विभागीय मामले में दी है, जब भी कोई विभागीय समस्या आती है तो उस विभाग के मुखिया उसकी जाँच कराने का हक़ रखता है। लेकिन इस मामले में भी शायद एसएसपी ने यही किया है।

Special Coverage News
Next Story
Share it