Top
Begin typing your search...

Kanpur Encounter LIVE Updates: पुलिस का शक सही, विकास दुबे के फोन की काल डिटेल से मिले अहम सुराग

Kanpur Encounter LIVE Updates: पुलिस का शक सही, विकास दुबे के फोन की काल डिटेल से मिले अहम सुराग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) के बिकरू गांव में हुए एनकाउंटर (Encounter) में पुलिसकर्मियों की हत्या मामले में जांच एक साथ कई दिशाओं में चल रही है. एक तरफ दर्जनों टीमें फरार अभियुक्त विकास दुबे (Vikas Dubey) की तलाश में छापेमारी कर रही हैं. वहीं दूसरी ओर हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे और उसके शूटर गैंग ने जिस तरह से जघन्य हत्याकांड को प्लानिंग के तहत अंजाम दिया, उसने पुलिस विभाग की गोपनीयता पर सवाल खड़े किए हैं.

अधिकारियों को आशंका है कि पुलिस महकमे के ही किसी भेदिए ने चौबेपुर थाने से फोर्स के चलने और गांव पहुंचने तक पल-पल की मूवमेंट की जानकारी विकास दुबे को दी थी.

मोबाइल कॉल डिटेल में मिले कई पुलिस कर्मियों के नम्बर

इसी की जांच में शक के आधार पर चौबेपुर थाने के एक दरोगा, सिपाही और होमगार्ड के मोबाइल नंबर की कॉल डिटेल खंगाली जा रही है. सूत्रों के अनुसार मेाबाइल कॉल रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है. इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी. पुलिस को विकास दुबे के मोवाइल से कई पुलिस वालों से बातचीत होने की बात सब सामने आ रही है जिससे इस घटना को अंजाम दिया गया . एसटीएफ कल से ही इसी बात की जांच पर लगी है. इसको लेकर लगातार एसटीएफ एसओ विनय तिवारी से पूंछतांछ कर रही है.

फुल प्लानिंग की संभावना सेअब इंकार नहीं

दरअसल घायल पुलिसकर्मियों से पूछताछ और मौके पर मिले सबूत के आधार पर इस बात की आशंका जताई जा रही है कि पुलिस रेड की जानकारी विजय दुबे को पहले से थी. उसने घर के बाहर रास्ते में जेसीबी लगाकर रास्ता रोका, यही नहीं पुलिस के आते ही पूरी ताकत से फायरिंग झोंकनी शुरू कर दी. इसमें एके-47 के इस्तेमाल की भी आशंका है. अफसरों का मानना है कि करीब 50 की संख्या में पुलिसकर्मियों पर ताबड़तोड़ फायरिंग और उसके बाद असलहे लूट ले जाने के दुस्साहस के पीछे फुल प्लानिंग की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता.

विकास की तलाश में ताबड़तोड़ छापेमारी

उधर एसटीएफ सहित यूपी पुलिस पुलिस की करीब 100 टीमें लगातार छापेमारी कर रही हैं. वहीं विकास की सूचना देने वाले को 50 हजार रुपये इनाम की घोषणा भी कर दी गई है. मामले में डीजीपी एचसी अवस्थी ने कहा कि इन अपराधियों को किसी को भी पनाह नहीं देनी चाहिए. जो भी इन्हें पनाह देगा, उसके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जाएगी. वहीं एडीजी काननून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा कि कोई भी बख्शा नहीं जाएगा, कार्रवाई जारी है. एसटीएफ को भी लगाया गया है. 100 से अधिक टीमें विकास की तलाश में छापेमारी कर रही हैं.

विकास के घर से मिले दो फोन

उधर चौबेपुर के बिकरू गांव में विकास दुबे के घर से पुलिस को दो मोबाइल फोन मिले हैं. पता चला है कि इससे पुलिस को अहम सुराग हाथ लगे हैं. पुलिस कॉल रिकॉर्ड की छानबीन में जुटी है. पता लगाया जा रहा है कि 48 घंटे में किन-किन लोगों से इन फोन से संपर्क किया गया? पुलिस इन सभी को ट्रैक कर रही है.

सूचना देने वाले की पहचान रहेगी गुप्त

वहीं पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने ऐलान किया गया है कि विकास दुबे की सूचना देने वाले को 50,000 का इनाम मिलेगा. कोई भी शख्स 9454400211 पर संपर्क कर सकता है. सूचना देने वाले व्यक्ति का नाम गोपनीय रखा जाएगा.


Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it