Top
Begin typing your search...

विकास दुबे का आखिरी वीडियो हुआ वायरल, डीजे पर डांस कर रहे विकास और उसके दोनों साथी मारे गए

विकास दुबे का आखिरी वीडियो हुआ वायरल, डीजे पर डांस कर रहे विकास और उसके दोनों साथी मारे गए
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर में 8 पुलिसवालों की हत्या करने वाला और गैंगस्टर विकास दुबे को यूपी एसटीएफ ने एनकाउंटर में मारा गिराया है। उसे उज्जैन में पकड़े जाने पर शुक्रवार को कानपुर लाया जा रहा था। एनकाउंटर के एक दिन बाद उसका एक नया वीडियो सामने आया है। इसमें वह अपने राइट हैंड और गैंग के शॉर्प शूटर अमर दुबे के साथ एक शादी में फिल्म लावारिस के गाने 'अपने आगे न पीछे, न ऊपर नीचे न कोई रोने वाला, आप का क्या होगा... अपनी तो जैसे तैसे कट जाएगी, आपका क्या होगा जनाबे अली' पर डांस कर रहा है। बताया जा रहा है कि यह वीडियो खास सहयोगी अतुल दुबे की शादी का है।

डीजे पर डांस कर रहे विकास और उसके दोनों साथी ढेर हो चुके

बिकरु गांव का रहने वाला अमर दुबे रिश्ते में गैंगस्टर विकास दुबे का भतीजा था। वह उसका राइट हैंड था। कानपुर शूटआउट में विकास के अपराध में अमर और उसका सगा चाचा अतुल दुबे बराबर शरीक थे। अतुल को पुलिस ने शूटआउट की अगली सुबह 3 जुलाई को ढेर कर दिया था। जबकि 8 जुलाई की सुबह हमीरपुर में अमर दुबे को एसटीएफ ने मुठभेड़ में मार गिराया। अमर की 29 जून को शादी हुई थी।

कानपुर शूटआउट केस में अब तक क्या हुआ?

2 जुलाई: विकास दुबे को गिरफ्तार करने 3 थानों की पुलिस ने बिकरू गांव में दबिश दी, विकास की गैंग ने 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी।

3 जुलाई: पुलिस ने सुबह 7 बजे विकास के मामा प्रेमप्रकाश पांडे और सहयोगी अतुल दुबे का एनकाउंटर कर दिया। 20-22 नामजद समेत 60 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई।

5 जुलाई: पुलिस ने विकास के नौकर और खास सहयोगी दयाशंकर उर्फ कल्लू अग्निहोत्री को घेर लिया। पुलिस की गोली लगने से दयाशंकर जख्मी हो गया। उसने खुलासा किया कि विकास ने पहले से प्लानिंग कर पुलिसकर्मियों पर हमला किया था।

6 जुलाई: पुलिस ने अमर की मां क्षमा दुबे और दयाशंकर की पत्नी रेखा समेत 3 को गिरफ्तार किया। शूटआउट की घटना के वक्त पुलिस ने बदमाशों से बचने के लिए क्षमा दुबे का दरवाजा खटखटाया था, लेकिन क्षमा ने मदद करने की बजाय बदमाशों को पुलिस की लोकेशन बता दी। रेखा भी बदमाशों की मदद कर रही थी।

8 जुलाई: एसटीएफ ने विकास के करीबी अमर दुबे को मार गिराया। प्रभात मिश्रा समेत 10 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया।

9 जुलाई: मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे उज्जैन से गिरफ्तार। प्रभात मिश्रा और बऊआ दुबे एनकाउंटर में मारे गए।

10 जुलाई: विकास दुबे एनकाउंटर में मारा गया।

11 जुलाई: एटीएस ने विकास दुबे के दो साथी सोनू तिवारी और गुड्डन त्रिवेदी को मुंबई से गिरफ्तार किया।




Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it