Top
Begin typing your search...

आस्था से जुड़े मंदिर को तोड़ने पर आमादा हैं नेशनल हाईवे के अधिकारी

मंदिर के पुजारी ने आला अधिकारियों से लेकर मंदिर बचाए जाने की प्रधानमंत्री से लगाई गुहार

आस्था से जुड़े मंदिर को तोड़ने पर आमादा हैं नेशनल हाईवे के अधिकारी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कौशाम्बी लाखों भक्तों की आस्था का केंद्र बना कसिया पश्चिम का अति प्राचीन हनुमान मंदिर नेशनल हाईवे के अधिकारियों के नजरों की भेंट चढ़ चुका है सड़क चौड़ीकरण के नाम पर हिंदुओं के आस्था के केंद्र इस मंदिर को नेशनल हाईवे के अधिकारी तहस-नहस करने पर आमादा है मंदिर पुजारी ने इस मंदिर को बचाने की गुहार जिलाधिकारी से लेकर प्रधानमंत्री तक लगाई है लेकिन किसी से भी पुजारी को संतोषप्रद उत्तर नहीं मिला है जिससे इलाके के भक्तों में आक्रोश व्याप्त है

गौरतलब है कि सिराथू तहसील क्षेत्र के कशिया पश्चिम ग्राम पंचायत के राष्ट्रीय राजमार्ग सड़क के किनारे सैकड़ो वर्ष पुराना दक्षिण मुखी हनुमान जी का हाइवे पर स्थित प्राचीन मंदिर स्थित है कुछ वर्षों पहले एक बार राष्ट्रीय राजमार्ग का चौड़ीकरण किया जा चुका है लेकिन अब दुबारा राष्ट्रीय राजमार्ग का चौड़ीकरण कर नेशनल हाईवे के अधिकारी मंदिर को तहस-नहस करने पर लगे हैं अति प्राचीन हनुमान जी के इस मंदिर से इलाके के लाखों भक्तो की आस्था जुडी़ है।


आस्था के केन्द्र को टूटने से बचाने के लिए मंदिर के पुजारी ने केंद्रीय मंत्री से भी कई बार गुहार लगाई है आलाअधिकारी से लेकर प्रधानमंत्री तक मंदिर के पुजारी फरियाद कर चुके हैं लेकिन अभी तक संतोष जनक जवाब ना मिलने से ईश्वर के प्रति क्षेत्र के आस्थावान भक्त मायूस हैं, क्षेत्र की जनता एक बार फिर से जिले के आलाअधिकारी को भेजें गए शिकायती पत्र के माध्यम से अधिकारियों के गौर करने के बाद मंदिर के प्रति जवाब का इंतजार कर रहे हैं आखिर क्षेत्र की जनता के प्रति कौन अधिकारी जवाब देह होगा।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it