Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > कुशीनगर > बिहार की जहरीली शराब ने कुशीनगर में ले ली आठ लोंगों की जान, आबकारी निरीक्षक, थाना प्रभारी समेत नौ सस्पेंड

बिहार की जहरीली शराब ने कुशीनगर में ले ली आठ लोंगों की जान, आबकारी निरीक्षक, थाना प्रभारी समेत नौ सस्पेंड

यह नकली शराब में कितने प्रतिशत एल्कोहल की मात्रा होती है. किसी को भी पता नहीं होता है. फिर भी ऐसे हादसे हो ही जाते है. इस मामले में अब तक नौ लोंगों को सस्पेंड किया जा चुका है.

 Special Coverage News |  2019-02-08T15:07:10+05:30  |  कुशीनगर

बिहार की जहरीली शराब ने कुशीनगर में ले ली आठ लोंगों की जान, आबकारी निरीक्षक, थाना प्रभारी समेत नौ सस्पेंड

उत्तर प्रदेश की सीमा पर स्तिथ कुशीनगर जिले में जहरीली शराब से आठ लोंगों की मौत की खबर है. सीएम योगी ने इस मामले में सख्ती बरतते हुए इस घटना से सम्बंधित आबकारी अधिकारी और थाना प्रभारी समेत नौ लोंगों को सस्पेंड कर दिया है. और मृतक के परिजनों को दो दो लाख रूपये मुआवजा और घायलों को पचास हजार रूपये मुआवजा देने का सीएम ने ऐलान कर दिया है.


मिली जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के जिले कुशीनगर की सीमा पर बिहार का जिला गोपालगंज लगता है. चूँकि बिहार में भी शराब बंदी है. तो यहाँ भी शराब बंदी के चलते चोरी चुपके शराब बिकती है जो अन्य राज्यों से लाकर यहाँ बेचीं जाती है. यह नकली शराब में कितने प्रतिशत एल्कोहल की मात्रा होती है. किसी को भी पता नहीं होता है. फिर भी ऐसे हादसे हो ही जाते है. इस मामले में अब तक नौ लोंगों को सस्पेंड किया जा चुका है.

जिले में इस तरह की घटना का किसी को अनुमान नहीं था. लेकिन इस मामले में पुलिस से ज्यादा जिम्मेदारी आबकारी विभाग की बनती है जबकि मामला पुलिस के सर पर डाला जाता है. अब तक मिली जानकारी के अनुसार चार पुलिस कर्मी और पांच आबकारी विभाग के लोग सस्पेंड किये गये है. मुख्यमंत्री इस तरह की घटना से वेहद नारज नजर आ रहे है. सरकार इस मामले से अभी संभली भी नहीं थी कि इस तरह की एक घटना सहारनपुर में भी घटित हो गई.

Tags:    
Share it
Top