Top
Begin typing your search...

ललितपुर में एक ही परिवार के चार बच्चों की संदिग्ध मौत से मचा हडकम्प

ललितपुर में एक ही परिवार के चार बच्चों की संदिग्ध मौत से मचा हडकम्प
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले से बड़ी दर्दनाक खबर आ रही है. जहाँ एक ही परिवार के चार बच्चों के पानी में डूबकर मर जाने की बात सामने आई है. चार बच्चों की मौत से परिवार में कोहराम मचा हुआ है. जबकि परिजन हत्या का आरोप लगा रहे है. पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है.

तालबेहट तहसील के मातेरा में रहने वाले मुकुंदी के बेटे रवीन्द्र (11 वर्ष) और बृजेन्द्र (7) अपने चचेरे भाई अरविंद (8) और नरेंद्र (7) के साथ मंगलवार की शाम करीब चार बजे पास में स्थित खेत से जानवर भगाने के लिए गए थे. देर शाम तक चारों बच्चे घर नहीं लौटे तो मुकुंदी अपने भाई संतोष के साथ उनकी तलाश के लिए निकले.

उन्होंने गांव के पास मनीराम बंशकार के खेत में मछली पालन के लिए बने तालाब में बच्चों की चप्पलें देखीं. अनहोनी की आशंका होने पर तालाब में बच्चों की तलाश की गई. तालाब में चारों बच्चों के शव मिलते ही हड़कंप मच गया. मौके पर भारी भीड़ लग गई. सूचना पर पुलिस भी पहुंच गई. बच्चों का शव सीएचसी लाया गया.

घटना की जानकारी होने पर पुलिस अधीक्षक कैप्टन मिर्जा मंजर बेग ने सीएचसी तालबेहट पहुंचकर परिजनों से बात की. उन्होंने कहा कि बच्चों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही इस घटना के बारे में कुछ कहा जा सकता है.

फिलहाल सवाल बना हुआ है चार बच्चों की मौत का जिम्मेदार कौन?

परिजनो का कहना है कि यह हत्या पारवारिक जमीनी विवाद के चलते की गई है. चार बच्चों की संदिग्ध मौत से हडकम्प मच गया. यह मामला ललितपुर जिले के थाना पूराकला क्षेत्र के झाबर गांव
है जहाँ खदान में डूबने से एक ही परिवार के चार बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई. इन बच्चों के शव तालाब में तैरते नजर आ रहे थे.

वहीं इस घटना की जानकारी जब सीएम योगी आदित्यनाथ को मिली तो उन्होंने शोक जताते कहा कि मृतक बच्चों के परिजनों की आर्थिक सहायता की जायेगी.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it