Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > लखनऊ > अखिलेश यादव ने NPR फॉर्म भरने से किया इंकार, बीजेपी को लेकर कह दी ये बात

अखिलेश यादव ने NPR फॉर्म भरने से किया इंकार, बीजेपी को लेकर कह दी ये बात

 Sujeet Kumar Gupta |  29 Dec 2019 10:58 AM GMT  |  नई दिल्ली

अखिलेश यादव ने NPR फॉर्म भरने से किया इंकार, बीजेपी को लेकर कह दी ये बात

लखनऊ। अखिलेश यादव रविवार को लखनऊ में सपा मुख्यालय पर पार्टी नेताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य है भाजपा को हटाना है। भाजपा के लोग समाज में भेदभाव बढ़ाकर उसका लाभ लेने की कोशिश करते हैं। हम संविधान का सम्मान करते हैं और वो संविधान को नहीं मानते। आज जब देश की अर्थव्यवस्था आईसीयू में पहुंच गई है और इनके पास देश को दिखाने के लिए कुछ नहीं है तो समाज में एक दूसरे को लड़वाना चाहते हैं।

वही देश में इन दिनों नागरिकता संशोधन कानून (CAA), राष्ट्रीय नागरिकता संशोधन (NRC) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR) को लेकर बवाल मचा हुआ है. वहीं समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एनपीआर के मुद्दे पर बीजेपी पर निशाना साधा है अखिलेश यादव ने कहा है कि हम एनपीआर का फॉर्म नहीं भरेंगे. ये बीजेपी वाले तय नहीं कर सकते हैं कि हम भारतीय हैं या नहीं. अखिलेश यादव ने कहा है कि एनपीआर नहीं रोजगार चाहिए.

अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी सरकार जनता से घबरा रही है. ये लोग सच्चाई जनता तक नही पहुंचने देना चाहते. हमें एनपीआर नहीं रोजगार चाहिए. अन्याय इतना बढ़ गया है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट तक नहीं दे रहे हैं. विशेषज्ञों का कहना है कि अर्थव्यवस्था आईसीयू में पहुंच गई है.

प्रदर्शनकारियों को लेकर सपा प्रमुख ने कहा कि निर्दोष लोगों की जान गई है समाजवादी पार्टी उनकी मदद करेगी. अखिलेश यादव ने पार्टी के यूथ कार्यकर्ताओं की मीटिंग में कहा कि हम NRC का फॉर्म ही नहीं भरेंगे. हम NPR का फॉर्म नहीं भरेंगे. महात्मा गांधी ने अपने पहले आंदोलन में कागजात जला दिया था. हम भी ऐसा ही करेंगे।

अखिलेश ने कहा- सीएम अपनी कुर्सी बचाने के लिए ही राज्य में अन्याय कर रहे हैं। उनके (योगी) खिलाफ 200 भाजपा विधायक धरने पर बैठ गए, जिसके बाद से ही वह डरे हुए हैं कि कहीं उनकी कुर्सी न चली जाए। उन्होंने कहा कि सत्र के दौरान भाजपा के असंतुष्ट 200 विधायक धरने पर बैठ गए। यह संख्या इससे भी ज्यादा है। सीएम से नाराज विधायक सभी लोगों के सम्पर्क में हैं।

समाजवादी छात्रसभा की बैठक के बाद अखिलेश ने कहा- "आज खुशी का दिन है। छात्रसंघ चुनाव जीतने वाले सभी नौजवानों को बधाई। भाजपा के लोगों ने नौजवानों को घेरा और तोड़फोड़ की। नौजवानों को पीटने वाले और एसओ को पीटने वालों पर कार्रवाई नहीं हुई।" अखिलेश ने कहा कि मुख्यमंत्री जब मुकदमे वापस ले रहे हैं, तो आपके मुकदमे सरकार आते ही वापस होंगे।

अखिलेश ने कहा कि राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर देश के गरीब, मुसलमान और माइनॉरिटी के खिलाफ है।


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it