Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > लखनऊ > कानपुर में शहीद हुए 8 पुलिसकर्मियों की मौत का जमकर उड़ाया जा रहा मजाक, पुलिस खामोश क्यों?

कानपुर में शहीद हुए 8 पुलिसकर्मियों की मौत का जमकर उड़ाया जा रहा मजाक, पुलिस खामोश क्यों?

फर्ज के लिए शहीद होने वाले पुलिसकर्मियों की मौत का नहीं है समाज में सम्मान

 Shiv Kumar Mishra |  3 July 2020 3:26 PM GMT  |  कानपुर

कानपुर में शहीद हुए 8 पुलिसकर्मियों की मौत का जमकर उड़ाया जा रहा मजाक, पुलिस खामोश क्यों?
x

हरदोई कानपुर में हुई घटना को लेकर जहां पूरा देश सदमे में है वहीं दूसरी ओर हरदोई के रहने वाले कुछ लोगों द्वारा सोशल मीडिया पर सिपाहियों की मौत का मजाक उड़ाते हुए उनको गीदड़ कहते हुए सोशल मीडिया पर पोस्ट को शेयर किया गया है.

जिसमें विकास दुबे को शेर और पुलिसकर्मियों को गीदड़ बताया है. जिसको लेकर समाज में उनके प्रति नाराजगी देखी जा सकती है. हरदोई जिले की रीता पांडे नाम से फेसबुक अकाउंट पर लगातार पुलिस कर्मियों की मौत को लेकर मजाक उड़ाने वाली पोस्ट की जा रहे हैं.

वहीं दूसरी ओर पंडित शैलेंद्र मिश्रा द्वारा भी पोस्ट लगातार की जा रहे हैं और सुरेंद्र कुमार मिश्रा के द्वारा भी इसी तरीके से पोस्ट को लगातार पोस्ट की जा रहे हैं. जिसको लेकर समाज में हर जगह उनकी आलोचना की जा रहे हैं लेकिन सवाल यह उठता है कि क्या इतनी गंदी सोच रखने वाले लोग भी समाज में रहने के लायक हैं. जिनको अपने सिपाहियों की मौत पर अपराधी का पक्ष लेते हुए शहीद हुए पुलिसकर्मी का मजाक लगातार बनाया जा रहा है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it