Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > लखनऊ > गृहमंत्री अमित शाह ने उत्कृष्ट सेवा पदक का किया ऐलान, यूपी के 6 आईपीएस अधिकारीयों को मिला यह सम्मान

गृहमंत्री अमित शाह ने उत्कृष्ट सेवा पदक का किया ऐलान, यूपी के 6 आईपीएस अधिकारीयों को मिला यह सम्मान

यूपी के 6 आईपीएस अधिकारीयों को मिला यह सम्मान

 Shiv Kumar Mishra |  15 Aug 2020 1:41 PM GMT  |  नोएडा

गृहमंत्री अमित शाह ने उत्कृष्ट सेवा पदक का किया ऐलान, यूपी के 6 आईपीएस अधिकारीयों को मिला यह सम्मान
x

भारत सरकार के गृहमंत्री अमित शाह ने उत्कृष्ट सेवा पदक देश के चुने हुए पुलिस अधिकारीयों को देने का एलान किया है. इस ऐलान में उत्तर प्रदेश के छह आईपीएस अधिकारीयों को स्थान मिला है. यह घोषणा आज की गई है.

गृहमंत्री अमित शाह ने गौतमबुद्ध नगर जिले के कमिश्नर और एडीजी आलोक सिंह , एडीजी यातायात अशोक कुमार सिंह लखनऊ , एडीजी पुलिस मुख्यालय लखनऊ रवि कुमार जोसेफ लोक्कू , एडीजी पीएसी सेंट्रल ज़ोन रामकुमार, आगरा रेंज के आईजी ए सतीश गणेश और लखनऊ डीसीपी अरुण कुमार श्रीवास्तव को मिला है.

इस उत्कृष्ट सेवा पदक में 1995 बैच का बोलबाला रहा है. जहाँ पदक चार एक ही बैच के अधिकारीयों को मिला है जबकि दो अधिकारी अलग अलग बैच के है.

वर्ष 1995 बैच के आईपीएस अधिकारी व वर्तमान में गौतमबुद्धनगर के प्रथम पुलिस कमीश्नर आलोक सिंह को 15 अगस्त 2020,स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर गृह मन्त्रालय द्वारा उनके पुलिस विभाग में असाधारण सेवा के लिए उत्क्रष्ट सेवा मैडल प्रदान किया जायेगा। तेज तर्रार छवि के आलोक सिंह कानपुर व मेरठ रेन्ज के आईजी रह चुके है तथा मेरठ आईजी रहते हुये 1 जनवरी 2020 को उनका प्रमोशन एडीजी पद पर हुआ था। मूल रूप से अलीगढ के रहने वाले आलोक सिंह को डीजीपी के सिल्वर और गोल्ड डिस्क से सम्मानित किया जा चुका है। उन्होंने इटली और केम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में पुलिस ट्रेनिंग भी ली है एवं भारत सरकार में पाॅलिसी लेवल पार्लियामेन्ट सम्बन्धी कार्यो के पर्यवेक्षण अधिकारी नियुक्त रहे व एयर इंडिया में डायरेक्टर, सुरक्षा भी रहे हैं।

अपनी प्रथम नियुक्ति एएसपी सहारनपुर के पद पर रहते हुये थाना सरसाव में आंतकियों से मुठभेड के दौरान आतंकियों को पकड़ा ,उस मुठभेड़ एक निरीक्षक गोली लगने से घायल हुये। इसके अलावा सोनभद्र जिले में नक्सल क्षेत्रों में असाधारण क्षमता का परिचय देते हुये 3 नक्सलवादियों को मार गिराया तथा उनके द्वारा पी0ए0सी0 के जवानों से लूटी हुयी रायफलें भी बरामद की । इस कार्य के लिए श्री आलोक सिंह को राष्ट्रपति वीरता पदक से सम्मानित किया गया।अयोध्या प्रकरण पर फैसला आने पर मेरठ में आई0जी0 रहते हुये इन्होंने दोनों पक्षों के बीच सामन्जस्य बनाये रखने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। आलोक सिंह ने आईजी कानपुर रहते हुये अपराधियों के विरूद्ध विशेष अभियान चलाया, तब कई अपराधी पुराने मामलों में अपनी जमानत रद्द करवाकर जेल चले गये थे। मेरठ एसएसपी रहते हुये आलोक सिंह ने हाजी इजलाल जैसे गैंगस्टर/माफियाओं पर कार्यवाही करायी जिसमें हाजी इजलाल अभी भी जेल में निरूद्ध है।

आलोक सिंह अभी तक की पुलिस सेवा में कौशाम्बी, बागपत, बस्ती, सोनभद्र, रायबरेली, सीतापुर, उन्नाव, बिजनौर ,कानपुर, मेरठ के कप्तान रह चुके है। इसके अलावा वह लखनऊ में सहायक पुलिस अधीक्षक होते हुये सीओ अलीगंज रहे थे व 32वीं व 35वीं वाहिनी लखनऊ तथा 37वीं वाहिनी कानपुर में सेनानायक के पद पर सेवा दे चुके है।

देखिये सूची




Tags:    
Next Story
Share it