Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > लखनऊ > लोकसभा संग्राम 79– रमज़ान के महीने में चुनाव का एलान करना क्या मोदी मुसलमानों से घबराए हुए है

लोकसभा संग्राम 79– रमज़ान के महीने में चुनाव का एलान करना क्या मोदी मुसलमानों से घबराए हुए है

 Special Coverage News |  10 March 2019 3:35 PM GMT  |  दिल्ली

लोकसभा संग्राम 79– रमज़ान के महीने में चुनाव का एलान करना क्या मोदी मुसलमानों से घबराए हुए है
x

लखनऊ से तौसीफ़ क़ुरैशी

राज्य मुख्यालय लखनऊ। मोदी की भाजपा ने जब सब शिलापटो से पर्दा हटा दिया कुछ शिलापट तो ऐसे भी रहे जिनका पहले ही पर्दा हट चुका था लेकिन मोदी विकास का संदेश देना चाहते थे अब यह संदेश गया या नही यह तो चुनाव के परिणाम बताएँगे यूपी में तो ऐसा नही लग रहा है कि मोदी की भाजपा कुछ अच्छा करने जा रही है क्योंकि यहाँ बसपा-सपा व रालोद की तिकड़ी ने उनकी झूट की बुनियाद को हिला कर रख दिया है इनका गठबंधन मोदी की भाजपा पर भारी पड़ रहा है इसकी वजह दलित , मुसलमान , यादव व जाटों को माना जा रहा है ये बात अपनी जगह है चुनाव आयोग इससे ज़्यादा स्पोर्ट नही कर सकता था यही वजह है कि आख़िरकार चुनाव आयोग ने भी चुनाव कार्यक्रम घोषित कर चुनावी बिगुल बजा ही दिया है अब देश में चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है अब कोई शिलापट से पर्दा नही उठा सकेगा ख़ैर ये बात अपनी जगह है जिसका काफ़ी पहले से पता था कि अब चुनाव आयोग कभी भी चुनाव का कार्यक्रम घोषित कर सकता है वैसा ही हुआ शाम पाँच बजे नई दिल्ली में चुनाव आयोग ने विज्ञान भवन में एक प्रेस वार्ता का आयोजन कर देश में चुनाव कराने की घोषणा करते हुए कहा कि देशभर में लोकसभा चुनाव सात चरणों में होगे इस संबंध में गृह मंत्रालय से कई दौर की बातचीत की गई जिसमें कानून-व्यवस्था और फ़ोर्स के इंतजाम पर चर्चा हुई।


आयोग का कहना है कि चुनावो की तारीख के एलान से पहले हमने व्रत, त्योहार ओर कई और चीजों के बारे मै भी देखा है जबकि रमज़ान को कोई तर्जी नही दी गई क्योंकि सात मई से रमज़ान का पवित्र महीना शुरू हो जाएगा इस लिए चुनाव आयोग का ये दावा ग़लत है कि इनके द्वारा त्योहारों और व्रतों का ध्यान रखा गया है वैसे ये पहले ही विदित था कि चुनाव कार्यक्रम रमज़ान में ही लगाया जाएगा ताकि मोदी की भाजपा के विरोध में मुसलमान वोटिंग न कर सके।चुनाव की तारीख में परीक्षाओं का ध्यान रखने का भी दावा किया गया है चुनावी खर्च पर आयकर विभाग से चर्चा की गई है 3 जून को लोकसभा का कार्यकाल खत्म हो रहा है चुनाव आयोग ने इसके लिए बड़े पैमाने पर तैयारी की है।


इस चुनाव में 90 करोड़ जनता अपना वोट डालेगी इस बार 18 से 19 की उम्र वाले वोटर पहली बार अपने मत का प्रयोग करेगे।99.3% वोटर के पास आईडी कार्ड मौजूद है इसके बाद भी अगर किसी को कोई दिक़्क़त हो तो 1590 पर फोन कर अपना नाम चेक कर सकते है सभी इवीएम पर वीवीपैट व सीसीटीवी लगेगी।यूपी में पहले चरण से लेकर सातवे चरण तक होगा चुनाव यूपी में 7 चरणों में होगा चुनाव यूपी में पहले चरण में 8 सीटों पर चुनाव 11 अप्रैल को पहले चरण की वोटिंग होगी दूसरे चरण में 8 सीटों पर चुनाव होगा 18 को तीसरे चरण में 10 सीटों पर वोटिंग होगी 23 अप्रैल को तीसरे चरण की वोटिंग यूपी में चौथे चरण में 13 सीटों पर वोटिंग, 29 अप्रैल को चौथे चरण की वोटिंग यूपी में पांचवें चरण में 14 सीटों पर वोटिंग 6 मई को पांचवें चरण की वोटिंग यूपी में छठे चरण में 14 सीटों पर वोटिंग 12 मई को पांचवें चरण की वोटिंग यूपी में सातवें चरण में 13 सीटों पर वोटिंग 19 मई को सातवें चरण की वोटिंग पहले चरण के लिए नामांकन की आखिरी तारीख 25 मार्च होगी 7 चरणों में होगा।


लोकसभा चुनाव तीसरे चरण में 23 अप्रैल, चौथे चरण में 29 अप्रैल और पांचवें चरण में 6 मई को होंगे चुनाव पहले चरण में 11 अप्रैल, दूसरे चरण में 18 अप्रैल को होगा मतदान छठें चरण पर 12 मई और सातवें चरण में 19 मई होंगे मतदान पहले चरण में 20 राज्यों के 91 सीटों पर होंगे मतदान दूसरे चरण में 13 राज्यों की 97 सीटों पर होंगे मतदान तीसरे चरण में 14 राज्यों की 115 सीटों पर होंगे मतदान चौथे चरण में 9 राज्यों की 71 सीटों पर होंगे मतदान पांचवें चरण में 7 राज्यों की 51 सीटों पर होंगे मतदान छठे चरण में 7 राज्यों की 59 सीटों पर होंगे मतदान सातवें चरण में 8 राज्यों की 29 सीटों पर होंगे मतदान दो चरणों में मणिपुर, तेलंगाना, राजस्थान में होंगे मतदान।इसके बाद मतगणना 23 को होगी जिसके बाद यह तय हो जाएगा कि अगली सरकार किसकी होगी क्या एक बार फिर मोदी की भाजपा सरकार बना पाएगी या रह जाएगा अधूरा सपना।क्या विपक्ष की सरकार बना पाने में सफल होगा यही चर्चा परिणाम आने तक चर्चा का विषय रहेगा।

यूपी की 80 लोकसभा सीटों पर सात चरणों में चुनाव होंगे

पहला चरण- 11 अप्रैल (8 सीट)

सहारनपुर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर

दूसरा चरण– 18 अप्रैल (8 सीट)

नगीना, अमरोहा, बुलंदशहर, अलीगढ़, हाथरस, मथुरा, आगरा, फतेहपुर सीकरी

तीसरा चरण– 23 अप्रैल (10 सीट)

मुरादाबाद, रामपुर, संभल, फिरोजाबाद, मैनपुरी, एटा, बदायूं, आंवला, बरेली, पीलीभीत

चौथा चरण– 29 अप्रैल (13 सीट)

शाहजहांपुर, खीरी, हरदोई, मिश्रिख, उन्नाव, फर्रुखाबाद, इटावा, कन्नौज, कानपुर, अकबरपुर, जालौन, झांसी, हमीरपुर

पांचवां चरण– 6 मई (14 सीट)

धौरहरा, सीतापुर, मोहनलालगंज, लखनऊ, रायबरेली, अमेठी, बांदा, फतेहपुर, कौशांबी, बाराबंकी, फैजाबाद, बहराइच, कैसरगंज, गोंडा

छठा चरण– 12 मई (14 सीट)

सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, फूलपुर, इलाहाबाद, अंबेडकरनगर, श्रावस्ती, डुमरियागंज, बस्ती, संतकबीरनगर, लालगंज, आज़मगढ़, जौनपुर, मछलीशहर, भदोही

सातवां चरण– 19 मई (13 सीट)

महराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर, बलिया, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, मिर्जापुर, रॉबर्ट्सगंज

Tags:    
Next Story
Share it