Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > लखनऊ > जन्मदिन पर मायावती का हमला, बोलीं-भाजपा को अपनी ये जिद छोड़ देनी चाहिए

जन्मदिन पर मायावती का हमला, बोलीं-भाजपा को अपनी ये जिद छोड़ देनी चाहिए

 Sujeet Kumar Gupta |  15 Jan 2020 5:17 AM GMT  |  नई दिल्ली

जन्मदिन पर मायावती का हमला, बोलीं-भाजपा को अपनी ये जिद छोड़ देनी चाहिए
x

बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) अध्यक्ष मायावती बुधवार को अपना 64वां जन्मदिन मना रही हैं. इस मौके पर उन्होंने लखनऊ में मीडिया को संबोधित किया. मायावती ने कहा कि नरेंद्र मोदी राज में अर्थव्यवस्था बीमार है और 130 करोड़ लोगों के रोजाना रोजी-रोटी का संकट है अपने जन्मदिन पर मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया। मायावती ने कांशीराम को याद किया। मायावती ने पार्टी कार्यकर्ताओं से जनकल्याणकारी दिवस के रूप में अपना जन्मदिन मनाने का आह्लान किया।

उन्होंने आगे कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं को एक बार फिर से नववर्ष की शुभकामनाएं देना चाहती हूं।मायावती ने बसपा प्रदेश मुख्यालय पर अपने 64 वें जन्मदिन पर पार्टी की 'ब्लू बुक' मेरे संघर्षमय जीवन व बीएसपी मूवमेंट का सफरनामा के 15 वें संस्करण का विमोचन किया। उन्होंने इसका अंग्रेजी संस्करण भी जारी किया। इसी तरह जिला स्तर पर बड़े स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।

मायावती ने जन्मदिन के बहाने हमला भी किया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार कांग्रेस के रास्ते पर चल रही है। मायावती ने कहा कि मोदी राज में अर्थव्यवस्था बीमार हालत में है।उन्होंने कहा कि 130 करोड़ लोगों के सामने रोजाना रोजी-रोटी का संकट हो रहा है। देशभर में भयंकर गरीबी और बेरोजगारी व्याप्त है। उन्होंने कहा कि देशभर में उद्योग धंधे चौपट हो गए हैं। बुरी तरह प्रभावित होने के चलते देश में अर्थव्यवस्था बीमार हालत में पहुंच गई है।

मायावती ने कहा कि इस वजह से आम जनता का जीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है। केंद्र की नीतियां पूरी तरह से गलत है और इस वजह से देश में इस वक्त गरीबी, अशिक्षा और तनाव का माहौल है। भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार भी कांग्रेस पार्टी की राह पर चल रही है। यह राजनीतिक लाभ के लिए अपनी शक्तियों का दुरुपयोग कर रहा है। सरकार की गलत नीतियों के कारण देश भर में अशांति और कानून व्यवस्था बिगड़ गई है, जो राष्ट्रीय चिंता का विषय है।

बीएसपी प्रमुख ने कहा, बीएसपी देश की गरीब जनता के साथ है. बीजेपी को एनआरसी, एनपीआर की जिद छोड़ देनी चाहिए. गांव देहात बेरोजगारी से त्रस्त हैं. दलित आदिवासी भी बेहाल हैं. मायावती ने कहा कि मोदी सरकार पूंजीपतियों की सरकार है. महंगाई ने आम लोगों की कमर तोड़ दी है. बीएसपी प्रमुख मायावती ने कहा, बीएसपी ने सबसे पहले नोटबंदी, ईवीएम और बाकी मुद्दों पर आवाज उठाई. इसलिए कांग्रेस और दूसरी पार्टियो को झूठ बोलना बंद करना चाहिए. बीएसपी कभी भी बगैर इजाजत के धरना प्रदर्शन और हिंसा में शामिल नहीं होती.

मायावती ने लखनऊ और नोएडा में आयुक्त प्रणाली लागू होने पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि यूपी में कानून और व्यवस्था की स्थिति सुधरने वाली है। भाजपा में कई आपराधिक तत्व हैं, लेकिन उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। यूपी में कानून का राज नहीं है, 'जंगल राज' है।


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it