Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > लखनऊ > इस आईपीएस के जातिसूचक शब्दों से मचा यूपी में हंगामा

इस आईपीएस के जातिसूचक शब्दों से मचा यूपी में हंगामा

 Special Coverage News |  24 Feb 2019 8:53 AM GMT  |  लखनऊ

इस आईपीएस के जातिसूचक शब्दों से मचा यूपी में हंगामा

उत्तर प्रदेश के आईपीएस अफसर ने सोशल मीडिया पर विवादित टिप्पणी करते हुए पद की गरिमा को तार तार किया है। आईपीएस शैलेश यादव ने अपने फेसबुक अकाउंट के जरिये चुनाव को लेकर विवादित धार्मिक टिप्पणी की है। बता दें कि शैलेश यादव वर्तमान में एसपी विजलेंस के पद पर तैनात हैं।

एसपी विजलेंस के पद पर तैनात हैं आईपीएस शैलेश यादव

राजधानी लखनऊ में एसपी विजलेंस के पद पर तैनात शैलेश यादव ने सोशल मीडिया पर विवादित पोस्ट लिखा है, जो अब वायरल हो गया है। इस विडियो में उन्होंने जातिसूचक टिप्पणी की है। बता दें कि उन्होंने अपने फेसबुक अकाउंट पर कुछ विशेष जाति-धर्म से जुड़े लोगों को वोट देने को लेकर विवादित नसीहत दी है।

चुनाव को लेकर जातिसूचक टिप्पणी

उन्होंने लिखा कि, 'अहिरो, चमारो और मुसलमानों, केवल उनको वोट दो जो तुम्हारे जमात के हैं, जो तुम्हारे जमात के नहीं उनको वोट देने से बेहतर है कि अपने वोट सहित डूब मरो। झंडा डंडा जिसका भी हो।

कौन है आईपीएस शैलेश यादव

जातिसूचक शब्दों के साथ वोट के नाम पर नसीहत देने वाले आईपीएस अफसर शैलेश यादव लखनऊ विजिलेंस में एसपी के पद पर साल 2017 से तैनात हैं। आइपीएस शैलेश साल 1994 बैच के पीपीएस अफसर हैं। इतना ही नहीं लखनऊ में एसपी पूर्वी के पद पर भी शैलेश यादव कार्यरत रह चुके हैं।

सवाल ये उठता है कि ऐसे पद पर रहते हुए पद की गरिमा को तार तार करने वाले आईपीएस अफसर की इस टिप्पणी के बाद उनपर कोई कार्रवाई होती है या नहीं। गलत टिप्पणी को लेकर पुलिस विभाग कार्रवाई करती रहती है और आरोपियों की गिरफ्तारी भी करती है, ऐसे में एक आईपीएस अफसर का जातिसूचक विवादित टिप्पणी पर क्या कार्रवाई की जानी चाहिए?






Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top