Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > लखनऊ > पंखुड़ी पाठक ने कहा, अलीगढ़ में हमलावर मेरी हत्या करना चाह रहे थे, पुलिस मूकदर्शक बनी तमाशा देख रही थी

पंखुड़ी पाठक ने कहा, अलीगढ़ में हमलावर मेरी हत्या करना चाह रहे थे, पुलिस मूकदर्शक बनी तमाशा देख रही थी

 Special Coverage News |  2018-10-09 11:00:37.0  |  लखनऊ

पंखुड़ी पाठक ने कहा, अलीगढ़ में हमलावर मेरी हत्या करना चाह रहे थे, पुलिस मूकदर्शक बनी तमाशा देख रही थी

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की पूर्व प्रवक्ता व युवा सामाजिक कार्यकर्ता पंखुड़ी पाठक ने प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक प्रेस वार्ता की. प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने कहा कि उन्हें बजरंग दल के लोगों ने अलीगढ़ के अतरौली में जान से मारने का प्रयास किया.

पंखुड़ी पाठक ने कहा हम लोग यूपी के एनकाउंटर का मुद्दा उठा रहे हैं और इसी उद्देश्य के तहत हम अतरौली में दो युवकों के एनकाउंटर किए जाने के बाद उनके परिजनों से मिलने गए थे. इस दौरान हम पर बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने जानलेवा हमला कर दिया. बीते दिनों प्रदेश की राजधानी लखनऊ में विवेक तिवारी की हत्या की गई थी .उसको भी हमने उठाया उससे पहले भदोही डिस्टिक के एक थाने में रामजी मिश्रा टेंपो चालक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी उस मुद्दे को भी उठाया था.

इस घटना के बाद लगातार सोशल मीडिया पर मुझे जान से मारने की धमकी दी जा रही है. मेरा उत्तर प्रदेश के पुलिस से अनुरोध है कि इस घटना की एफ आई आर दर्ज कर जांच कराएं और जो भी हो उन्हें जेल भेजा जाए. उन्होंने कहा हमलावर उन्हें मार देना चाहते थे. उनकी गाड़ी बुरी तरीके से तोड़ दी गई. जबकि मौके पर मौजूद पुलिस मूकदर्शक बनी देखती रही. घटना के दौरान अगर पुलिस सक्रियता दिखाती तो मेरे साथ कोई वारदात नहीं होती. मैंने 100 नंबर डायल किया उसके बाद पुलिस आई लेकिन किसी भी हमलावर को गिरफ्तार नहीं किया गया. सोशल मीडिया पर मिल रही धमकियों के बाद मुझे सुरक्षा प्रदान की जाए.

घटना के बाद मैं बुरी तरह भयभीत हूं. मैंने किसी तरह अपनी जान बचाई है. मेरा कोई राजनीतिक कैरियर नहीं है. मेरा यूपी पुलिस के डीजीपी से अनुरोध है. इस घटना की जांच किसी अनियंत्रित जिले से कराई जाए. अलीगढ़ पुलिस पर मेरा कतई भरोसा नहीं है. अलीगढ़ पुलिस जब लाइव इनकाउंटर कर सकती है तो लाइव मर्डर भी कर सकती है.

Tags:    
Share it
Top